कॅरियर सेमिनार: अपनी काबिलियत को पहचानें छात्र और आगे बढ़ें

0
96

कोटा। कोटा में देशभर से कोचिंग करने आने वाले विद्यार्थियों को मल्टीपल कॅरियर ऑप्शन तथा इंजीनियरिंग व मेडिकल की पढ़ाई में अन्य विकल्पों की जानकारी देने के उद्देश्य से एलन कॅरियर इंस्टीट्यूट की ओर से रविवार को एसआरएम यूनिवर्सिटी चैन्नई का सेमिनार आयोजित किया गया। यहां साइंस के विभिन्न कोर्सेज के साथ-साथ अन्य विषयों की जानकारी भी दी गई। 

सेमिनार में एडमिशन डायरेक्टर टी. वी. गोपाल ने कहा कि हम जीवन में एक लक्ष्य लेकर कोटा आए, देश के कोने-कोने से अपने परिजनों से दूर यहां आकर पढ़ रहे हैं। जब यहां आएं हैं तो हमारा उद्देश्य भी पूर्ण होना चाहिए। इसके लिए सबसे जरूरी है कि हम स्वयं को पहचानें।

स्वयं को पहचानने का मतलब है अपनी काबिलियत को समझें, मुझमें क्या है, मैं क्या कर सकता हूं, किस विषय को पढ़ना अच्छा लगता है, कहां मेरी परफोरमेंस अच्छी रहती है और यदि हम यह बात समझ गए तो हमें आगे बढ़ने से कोई नहीं रोक सकता।

उन्होंने बताया कि विद्यार्थियों की हायर एजुकेशन की शुरुआत लक्ष्य के साथ होती है और उन्हें यह ध्यान में रखते हुए तैयारी भी करनी चाहिए। इंजीनियरिंग या मेडिकल प्रवेश परीक्षा की तैयारी वरन इसके बाद कॉलेज की पढ़ाई और फिर प्लेसमेंट के लिए भी सोचना चाहिए।

उन्होंने बताया कि कौन-कौनसी परीक्षाएं हैं, क्या कोर्सेज हैं, इससे अपडेट रहें। इसके साथ ही स्वयं की रूचि के अनुसार लक्ष्य भी तय करें। अभी बदलाव का दौर चल रहा है। युवा नए-नए आइडिया लेकर आगे आ रहे हैं। इंजीनियरिंग में एडमिशन के साथ ही कुछ नया करने की कोशिश करें।

उन्होंने एसआरएम यूनिवर्सिटी द्वारा ली जाने वाली एसआरएम-जेईई परीक्षा के बारे में भी जानकारी दी। इसके बाद स्टूडेंट्स एसआरएम यूनिवर्सिटी में संचालित कोर्सेज और विभिन्न कैम्पस के बारे में जानकारियां ली।

डिप्टी डायरेक्टर मनोज माधवन कुट्टी ने कहा कि आप सभी कोटा में पढ़ रहे हैं। यह आपके लिए यादगार अनुभव है। देश के श्रेष्ठ विद्यार्थी यहां आकर तैयारी कर रहे हैं, इसका अर्थ है आपको देश का श्रेष्ठ पढ़ाई का माहौल यहां मिल रहा है। यहां विद्यार्थियों के सपने पूरे हो रहे हैं। उनका जीवन बदल रहा है और नया उद्देश्य मिल रहा है।

सेमिनार में एसआरएम के पूर्व छात्र और वर्तमान में एसआरएम सोनीपत में मैनेजमेंट में कार्यरत अभिषेक रमन ने एसआरएम यूनिवर्सिटी में पढ़ाई के लिए दिया जाने वाला माहौल और विद्यार्थियों को मिलने वाली सुविधाओं के बारे में बताया।