JEE एडवांस में ‘संदिग्ध’ सवाल करने पर IIT देगा बोनस 11 मार्क्स

0
50

मुंबई। जेईई एडवांस के 21 मई को हुए पेपर में 3 ऐम्बिग्यूस यानी अस्पष्ट सवाल पूछे गए थे और जिन स्टूडेंट्स ने इन सवालों के जवाब दिए हैं उन्हें 11 मार्क्स बोनस के तौर पर दिया जाएगा। इन 3 सवालों में से 2 सवाल मैथ्स के सेक्शन से था और 1 फिजिक्स से। 2 और सवाल जिसमें एक फिजिक्स से और एक केमिस्ट्री से था उसमें दोनों जवाबों के लिए मार्क्स दिए जाएंगे।

दरअसल, IIT के एक्सपर्ट्स की तरफ से 21 मई को हुए एग्जाम के क्वेश्चन पेपर का इंटरनल रिव्यू किया गया था जिसके बाद बोनस मार्क्स देने का यह फैसला किया गया। जेईई (अडवांस) एग्जाम की आंसर की रविवार को रिलीज की गई। पेस जूनियर सायेंस कॉलेज के एक टीचर वी वी आचार्य ने कहा कि रोटेशनल डाइनैमिक्स पर पूछे गए फिजिक्स के उस सवाल को कोई हल नहीं कर सकता था।

टीचर ने कहा, ‘सवाल में क्या पूछने और जानने की कोशिश की जा रही थी यह साफ नहीं था। IIT ने बोनस मार्क्स देने का जो फैसला किया है वह पूरी तरह से सही है। तो वहीं सेम टॉपिक पर जो दूसरा सवाल था उसकी एक से ज्यादा तरीके से व्याख्या की जा सकती थी। कुछ स्टू़डेंट्स उसे चैलेंस करना चाहते होंगे लेकिन IIT ने दोनों सही जवाब के लिए मार्क्स दिए हैं।’

एक टीचर ने कहा कि मैथ्स से जो एक सवाल पूछा गया था जिसके लिए बोनस मार्क्स दिया जाएगा वह सवाल ही गलत था। उसके लिए कोई जवाब मैच नहीं कर रहा था। ‘तो वहीं दूसरे सवाल में हम बोनस मार्क्स की उम्मीद नहीं कर रहे थे लेकिन IIT ने ऐसा किया क्योंकि उस सवाल में अस्पष्टता थी।’ केमिस्ट्री के एक सवाल में 2 सही ऑप्शन्स थे लिहाजा किसी भी एक का सही जवाब देने पर स्टूडेंट्स को नंबर दिए जाएंगे।

ठाकुर विद्या मंदिर जूनियर सायेंस कॉलेज के एक स्टूडेंट श्रेयस शशिशेखर ने कहा, ‘मुझे सिर्फ एक सवाल के लिए बोनस मार्क्स का फायदा मिलेगा क्योंकि बाकी 2 सवाल को मैंने अटेम्प्ट ही नहीं किया।’ श्रेयस उम्मीद कर रहा है कि उसे 366 में से 272 मार्क्स मिल सकते हैं। स्टूडेंट्स 6 जून शाम 5 बजे तक अपना फीडबैक दे सकते हैं।

अगर फीडबैक में दिए गए चैलेंजेस वास्तविक और मान्य होंगे तो उन्हें फाइनल आंसर की में शामिल किया जाएगा। देशभर से करीब 1 लाख 74 हजार स्टूडेंट्स ने इस टेस्ट में शामिल होने के लिए रजिस्ट्रेशन करवाया था। इससे पहले 2016 में भी 3 सवालों के लिए बोनस मार्क्स दिया गया था  पिछले साल शुरू की गई स्कीम के मुताबिक हर एक सवाल जिसके एक से ज्यादा सही जवाब होंगे उसमें अगर स्टूडेंट गलत ऑप्शन को नहीं चुनता तो उसे 1 अंक अतिरिक्त दिया जाएगा।