भारत में 5G सेवा 2020 तक होगी शुरू, TRAI ने शुरू की तैयारी

1
214

नई दिल्ली । दुनियाभर में 5G सेवा के लिए टेलिकॉम सेक्टर ने तैयारी शुरू कर दी है। स्मार्टफोन निर्माता से लेकर टेलिकॉम कंपनियों ने इसके लिए कमर कस लीं है। दुनियाभर में 5G सेवा को एक साथ ही शुरू किया जा सकता है। अगले साल के मध्य तक अमेरिका, चीन, दक्षिण कोरिया समेत कई देशों में 5G सेवा की टेस्टिंग पूरी हो सकती है। वहीं, भारत में भी 5G सेवा 2020 से शुरू हो सकती है। 

2020 के मध्य में होगी स्पेक्ट्रम की नीलामी
टेलिकॉम सचिव अरुणा सुंदरराजन ने बताया कि TRAI ने इसके लिए अपनी शुरुआती सिफारिशें दे दी हैं। दूरसंचार विभाग की कार्यकारी समिति इन पर गौर कर रही है। कार्य दल ने स्पेक्ट्रम के बैंड निर्धारित कर दिए हैं। हम इन पर काम करेंगे। हर किसी ने कहा है कि इस सेवा के लिए ईकोसिस्टम तैयार नहीं है।

लेकिन अगले साल जुलाई-अगस्त तक 5G की तैयारियां पूरी हो जाएंगी। हाल में देश की सबसे बड़ी टेलिकॉम कंपनी Vodafone Idea ने सरकार से अनुरोध किया है कि स्पेक्ट्रम की नीलामी 2020 तक न की जाए क्योंकि बेहतर रेडियो वेव्स यानी स्पेक्ट्रम की और जरूरत तभी होगी जब 5G के लिए ईकोसिस्टम तैयार हो जाए।

2020 की दूसरी छमाही में होगी सेवा की शुरुआत
सुंदरराजन ने कहा कि अगले साल जुलाई-अगस्त तक प्रक्रिया होने की उम्मीद है। यह नहीं कहा जा सकता है कि उस समय स्पेक्ट्रम नीलामी हो जाएगी लेकिन हम 2020 की दूसरी छमाही में सेवाएं शुरू करने के लिए तैयारी कर लेंगे। संभव है कि ये सेवाएं पूरे देश में चालू न हो पाएं लेकिन कुछ क्षेत्रों में शुरू अवश्य हो जाएंगी। 5G सेवा के लिए फील्ड ट्रायल किए जा रहे हैं।

नीलामी के लिए सिफारिश
TRAI ने 8644 मेगाहर्ट्ज के स्पेक्ट्रम की नीलामी के लिए रविवार को सिफारिश दे दी। इसका अनुमानित न्यूनतम मूल्य 4.9 लाख करोड़ रुपये होगा। इसमें 5G सेवाओं के लिए स्पेक्ट्रम भी शामिल होगा। दूरसंचार मंत्रालय की 5G कमेटी ने कहा है कि अगली पीढ़ी की मोबाइल सेवाओं के लिए 6000 मेगाहर्टज स्पेक्ट्रम बिना देरी से उपलब्ध कराया जा सकता है।

यह भी पढ़ें5G आने से कुछ यूं बदल जाएगी आपकी दुनिया, जानिए