राजस्थान समेत 5 राज्यों की 679 विधानसभा सीटों के नतीजे आज

0
24

नई दिल्ली। मध्यप्रदेश, राजस्थान, छत्तीसगढ़, तेलंगाना अौर मिजोरम के विधानसभा चुनाव के नतीजों के रुझान मंगलवार सुबह 8 बजे से आना शुरू होंगे। मध्यप्रदेश के 8 एग्जिट पोल्स में से 5 सर्वे में कांग्रेस को आगे दिखाया गया था। वहीं, राजस्थान के 7 एग्जिट पोल्स में कांग्रेस को आगे दिखाया गया था।

छत्तीसगढ़ में 5 एग्जिट पोल्स में कांग्रेस और 3 में भाजपा के आगे रहने का अनुमान जताया गया था। पांचों राज्यों में कुल 679 विधानसभा सीटें हैं। इनमें से 56% यानी 382 सीटें भाजपा के पास हैं।

5 चुनावी राज्यों में अभी किसकी सरकार
मध्यप्रदेश- भाजपा, छत्तीसगढ़- भाजपा, राजस्थान- भाजपा, तेलंगाना- टीआरएस, मिजोरम- कांग्रेस

पांचों राज्यों के नतीजों के क्या होंगे मायने?
मध्यप्रदेश : भाजपा जीती तो लगातार चौथा चुनाव जीतेगी। 13 साल से मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व पर एक बार फिर मुहर लगेगी। भाजपा हारी तो कांग्रेस 15 साल बाद वापसी करेगी। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ और सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया में से कोई से एक सीएम बनेगा।
राजस्थान : भाजपा जीती तो पिछले पांच चुनाव से हर बार सरकार बदल जाने का 25 साल का सिलसिला टूटेगा। भैरोसिंह शेखावत (1990 और 1993) के बाद ऐसा दूसरी बार होगा जब भाजपा सत्ता बचाए रखेगी। कांग्रेस जीती तो हर बार सत्ता बदल जाने का ट्रेंड कायम रहेगा। अशोक गहलोत और सचिन पायलट सीएम बनने के दावेदार रहेंगे।
छत्तीसगढ़ : कांग्रेस जीती तो राज्य में पहला चुनाव जीतेगी। बसपा की मदद से जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ जीती तो अजीत जोगी दूसरी बार सीएम बन सकते हैं। वहीं भाजपा जीती तो लगातार चौथा चुनाव जीतेगी। 15 साल से सीएम डॉ. रमन सिंह फिर शपथ लेंगे।
तेलंगाना : टीआरएस जीती तो लगातार दूसरी बार के. चंद्रशेखर राव सीएम बनेंगे। उनकी पार्टी को सीटें कम मिलने पर राज्य में पहली बार गठबंधन सरकार बनेगी। भाजपा जीती तो राज्य में उसकी पहली सरकार होगी। वहीं, कांग्रेस-टीडीपी को जीत मिली तो इस गठबंधन की भी राज्य में पहली सरकार होगी।
मिजोरम : कांग्रेस जीती तो पूर्वोत्तर में अपनी सत्ता वाला इकलौता राज्य बचा लेगी। भाजपा जीती तो पूर्वोत्तर का आखिरी गढ़ भी वह कांग्रेस से छीन लेगी।