Digi Locker App: जानिए कैसे करता है काम

0
289

नई दिल्ली। निजी और महत्वपूर्ण डॉक्यूमेंट्स की कॉपी अपने पास रखना कभी-कभी नुकसानदेह भी हो सकता है। क्योंकि इनके खो जाने का डर हमेशा लगा रहता है। इसी समस्या का समाधान करते हुए भारत सरकार ने एक ऐसी ऐप लॉन्च की थी जिसमें यूजर्स अपने सभी निजी और महत्वपूर्ण डॉक्यूमेंट्स की कॉपी सेव कर रख सकते हैं। इस ऐप का नाम DigiLocker है। यह एक आधार आधारित प्लेटफॉर्म है। इससे यूजर्स को अपने पास फिजिकल डॉक्यूमेंट्स रखने की जरुरत नहीं पड़ेगी।

 Digi Locker का काम ?
सबसे पहले आपको गूगल प्ले स्टोर पर जाकर DigiLocker ऐप को डाउनलोड करना पड़ता है। इंस्टॉल होने के बाद आधार कार्ड से साइनअप करना होगा। इसके लिए आपके पास वो नंबर होना अनिवार्य है जो आपके आधार से लिंक हो। अब आपको अपना नंबर एंटर करना होगा।

इसके बाद आपके पास एक OTP आएगा इसे एंटर कर दें। इसके बाद आपको अपनी मेलआईडी डालकर पासवर्ड जनरेट करना होगा। इससे आपका अकाउंट बन जाएगा। अब एक पॉप अप आएगा कि आप मोबाइल पिन सेट करना चाहते हैं या नहीं। इसे आप स्किप भी कर सकते हैं।अब जो पेज ओपन होगा उसमें नोटिफिकेशन में आधार लिंक करने का मैसेज होगा उस पर क्लिक कर अपना आधार नंबर एंटर करें। इसके बाद आपके पास OTP आएगा इसे एंटर कर दें।

  • अब जो पेज ओपन होगा उसमें आपको 1 Issued Documents का विकल्प दिखाई देगा। यहां आपके आधार की डिटेल्स होंगी।
  • इसके बाद ऊपर दिए गए तीन विकल्पों में से Uploaded पर टैप कर आप अपने डॉक्यूमेंट्स को अपलोड कर सकते हैं।
  • जब आप अपने डॉक्यूमेंट्स अपलोड कर देंगे तो जहां 1 Issued Documents लिखा था वहां संख्या बढ़ जाएगी। जितने डॉक्यूमेंट्स आपने अपलोड किए होंगे (अगर 5 डॉक्यूमेंट्स अपलोड किए हैं तो यहां 5 Issued Documents) तो उतनी संख्या लिखी आ जाएगी।

ट्रैफिक पुलिस के पास भी होगी एप
यात्री ड्राइविंग के दौरान अपने डिजिलॉकर में डॉक्यूमेंट्स को सेव रख सकते हैं। यात्री जैसा ही एप ट्रैफिक पुलिस के पास भी होगी जिसके जरिए पुलिस यात्री के डॉक्यूमेंट्स चेक कर सकती है। ध्यान दिला दें कि यात्री के पास आधार कार्ड होना अनिवार्य है क्योंकि ये एप आपके आधार नंबर से ही ओपन होगी।