ट्रेन-18 की रेडियो फ्रिक्वेंसी चेक, अब बिना वजन रखे होगा ट्रायल

0
162

कोटा। ट्रेन-18 का रविवार को कोटा रेल मंडल के रामगंजमंडी व झालावाड़ सिटी रेलवे स्टेशनों के बीच रेडियो फ्रिक्वेंसी इंटरफेस टेस्ट किया गया। इस टेस्ट को ट्रेन को चलाकर व रोककर देखा गया। बैंड फ्रिक्वेंसी चेक की गई। सोमवार को ट्रेन का परफॉरमेंस ट्रायल कोटा-सवाईमाधोपुर सेक्शन पर किए जाने की संभावना है।

आरडीएसओ” ट्रेन सैट के डायरेक्टर श्रीनिवास ने बताया कि रविवार को ट्रेन-18 को सुबह लगभग 10 बजे रवाना किया गया। ट्रेन 11 बजे रामगंजमंडी से झालावाड़ सिटी के बीच स्थित जुल्मी रेलवे स्टेशन पर पहुंची। वहां ट्रेन को रोककर रेडियो फ्रिक्वेंसी टेस्ट किया गया। इस दौरान कन्वर्टर, लाइट को बंद करके व चालू करके देखा गया। बैंड फ्रिक्वेंसी की स्थिति को रिकॉर्ड किया गया।

इसी प्रकार चलती ट्रेन में फ्रिक्वेंसी की स्थिति देखी गई। ट्रेन को स्पीड से धीमी गति से चलाकर देखा गया। उन्होंने बताया कि ट्रेन सैट की रेडियो फ्रिक्वेंसी रिकॉर्ड करके उसकी रिपोर्ट तैयार की जाएगी। रिपोर्ट आरडीएसओ लखनऊ मुख्यालय में कंपाइल की जाएगी।

उन्होंने बताया कि ट्रेन-18 की कोच में वजन रखकर ट्रायल हो चुका है। ट्रायल में ट्रेन को अलग-अलग स्पीड से चलाकर देखा जा चुका है। ट्रेन को 140,150,160,170 व 180 किमी प्रतिघंटे की स्पीड से चलाया गया था। अब ट्रेन के कोच से वजन उतारकर स्पीड से ट्रायल किया जाएगा। इस दौरान भी ट्रेन के कोच और स्प्रिंग की स्थिति की रिकॉर्डिंग की जाएगी।