Android One ऑपरेटिंग सिस्टम क्या है, जानिए

0
105

नई दिल्ली । दुनिया का सबसे बड़ा ऑपरेटिंग सिस्टम एंड्रॉइड है। मई 2017 तक एंड्रॉइड के 2 बिलियन एक्टिव यूजर्स थे। एंड्रॉइड की सफलता का एक बड़ा कारण इसकी फ्लैक्सिबिलिटी है। कई स्मार्टफोन निर्माता कंपनियां एंड्रॉइड फ्रेमवर्क को अपनाकर उसपर अपनी स्कीन (उदाहरण के तौर पर: Huawei का EMUI या LG का UX) उपलब्ध कराती हैं। देखा जाए तो एंड्रइड का अपडेशन रेट काफी कम है।

अक्टूबर 2018 तक केवल 19.2 फीसद एंड्रॉइड यूजर्स की डिवाइस ही एंड्रॉइड 8.0 ऑरियो पर अपडेट हुई हैं। इस परेशानी का हल निकालने के लिए गूगल ने एंड्रॉइड का एक किफायती वर्जन यानी Android One पेश किया। इस वर्जन में यूजर्स को जल्दी-जल्दी अपडेट्स मिलते हैं। यहां हम आपको Android One के बारे में जानकारी दे रहे हैं।

जानें क्या है Android One?
इसे एंड्रॉइड का किफायती वर्जन कहा जा सकता है। यह स्टॉक एंड्रॉइड से काफी मिलता-जुलता है। इस वर्जन से लैस फोन में जरुरत के कुछ ही गूगल ऐप्स इंस्टॉल्ड होती हैं। वहीं, फोन के सॉफ्टवेयर में भी कुछ बेसिक फीचर्स ही दिए गए हैं। इसे गूगल के एंड्रॉइड विजन के जितना करीब लाया जा सकता था उतना करीब लाया गया है। इसे वर्ष 2014 में लॉन्च किया गया था।

इसे एंट्री-लेवल एंड्रॉयड डिवाइसेज के लिए पेश किया गया था। लेकिन जिस तेजी से एंड्रॉइड लगातार बढ़ोतरी कर रहा है उसके मुताबिक, Android One की बढ़ोतरी की भी जरुरत नजर आ रही है। इसी के चलते मई 2017 में Android Go पेश किया गया। यह एंड्रॉइड का पहले से भी हल्का वर्जन है। इसे एंट्री लेवल डिवाइसेज के लिए बनाया गया है जिससे मोबाइल डाटा भी सेव होता है।

मिड-रेंज स्मार्टफोन्स में भी Android One आने की संभावना:
गूगल के लिए Android One को जैसा है वैसा ही रहने देना काफी आसान हो सकता था। लेकिन इसे स्टॉक एंड्रॉइड ऑपरेटिंग सिस्टम की तरह री-यूज किया गया है। अब यह केवल एंट्री-लेवल और बजट फोन्स तक ही सीमित नहीं रह गया है। आने वाले समय में इसे मिड-रेंज हैंडसेट में भी दिया जा सकता है।

Android One फोन क्यों करें इस्तेमाल?
एक Android One स्मार्टफोन में Google Assistant, Google Lens समेत गूगल की कई ऐप्स का सपोर्ट मिलेगा। यही नहीं, एंड्रॉइड 9.0 पाई के लेटेस्ट फीचर्स का भी सपोर्ट मिलेगा।दूसरा बड़ा कारण Android One फोन को इस्तेमाल करने का स्पीड है। हर Android One फोन में तीन साल तक सिक्योरिटी अपडेट देने की गारंटी दी गई है।

साथ ही दो साल तक मुख्य एंड्रॉइड रिलीज अपडेट देने का दावा भी किया गया है। यानी अगर आप एंड्रॉइड 8.1 ऑरियो से लैस फोन खरीद रहे हैं तो उस फोन को एंड्रॉइड 9.0 पाई और एंड्रॉइड क्यू का अपडेट भी मिलेगा।