मुनाफावसूली से सेंसेक्स मामूली बढ़त के साथ बंद

0
66

मुंबई। वैश्विक बाजार में मिले-जुले रुख के बीच उच्च स्तर पर मुनाफावसूली से सेंसेक्स शुक्रवार को मामूली बढ़त के साथ 36,194.30 अंक पर बंद हुआ। विश्लेषकों ने कहा कि अर्जेंटीना में दो दिवसीय जी-20 शिखर सम्मेलन शुरू होने से पहले और तेल उत्पादक देशों के संगठन ओपेक की आगामी बैठक में तेल उत्पादन में कटौती की घोषणा होने की आशंका के चलते कारोबारी रुख प्रभावित हुआ।

मुंबई शेयर बाजार का 30 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक शुक्रवार को 23.89 अंक यानी 0.07 प्रतिशत बढ़कर 36,194.30 अंक पर बंद हुआ जबकि नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 18.05 अंक यानी 0.17 प्रतिशत की बढ़त के साथ 10,876.75 अंक पर पहुंच गया। इस सप्ताह के दौरान सेंसेक्स 1,213.28 अंक और निफ्टी 350 अंक चढ़ा है।

लाभ में रहने वाले शेयरों में यस बैंक, विप्रो, कोटक बैंक, महिंद्रा एंड महिंद्रा, सन फार्मा, मारुति, एचडीएफसी, हीरो मोटोकॉर्प, इंफोसिस, टीसीएस, एलएंडटी, बजाज ऑटो और हिंदुस्तान यूनिलीवर रहे। इनमें छह प्रतिशत तक की वृद्धि दर्ज की गयी। वहीं, दूसरी ओर टाटा मोटर्स, आईसीआईसीआई बैंक, इंडसइंड बैंक, वेदांत, एनटीपीसी, भारती एयरटेल, कोल इंडिया, अडाणी पोर्ट्स, टाटा स्टील, एक्सिस बैंक, पावरग्रिड और एसबीआई में तीन प्रतिशत तक की गिरावट रही।

विभिन्न वर्गों में रीयल्टी, फार्मा और सूचना प्रौद्योगिकी वर्ग के सूचकांक में 2 प्रतिशत तक की वृद्धि जबकि बैंकिंग और धातु शेयरों पर 0.55 प्रतिशत तक की गिरावट आई। कारोबारियों ने कहा कि शुक्रवार (आज) को जारी होने सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) के आंकड़ों को लेकर निवेशकों ने सर्तक रुख अपनाया। इस बीच, डॉलर के मुकाबले रुपये में लगातार चौथे दिन तेजी रही।

कारोबार के दौरान डॉलर के मुकाबले रुपया 13 पैसे मजूबत होकर 69.78 रुपये प्रति डॉलर पर पहुंच गया। शेयर बाजारों के पास उपलब्ध अस्थायी आंकड़ों के अनुसार, विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों ने बृहस्पतिवार को शुद्ध रूप से 823.47 करोड़ रुपये के शेयर खरीदे। वहीं घरेलू संस्थागत निवेशकों ने 973.31 करोड़ रुपये मूल्य के शेयरों की खरीदारी की।