ट्रेन-18 की रैक कोटा पहुंची, कल हो सकता है ट्रायल

0
64

कोटा। मेक इन इंडिया के तहत बनी सबसे तेज स्पीड वाली ट्रेन-18 की रैक ट्रायल के लिए सोमवार को कोटा पहुंच गई। रैक के साथ आरडीएसओ लखनऊ के 4 अधिकारी भी आए हैं। फिलहाल इस रैक को कोटा रेलवे यार्ड के गोल्डन पिट लाइन में रखा गया है, जहां उसकी जांच-पड़ताल की जा रही है। रेलवे प्रबंधन के मुताबिक, ट्रेन का सवाईमाधोपुर-कोटा-श्यामगढ़ के बीच ट्रायल प्रस्तावित है।

यह ट्रायल आरडीएसओ के अधिकारियों की देखरेख में होगा। स्थानीय रेलवे अधिकारियों ने बताया कि मंगलवार को ट्रेन में ट्रायल के लिए जरूरी उपकरण लगाए जाएंगे। मसलन-स्पीडोमीटर व ट्रैक निगरानी जैसे अहम यंत्र लगेंगे। इसके बाद संभव है कि बुधवार को ट्रेन का ट्रायल किया जाए। हालांकि ट्रायल के बारे में सबकुछ आरडीएसओ के अधिकारी ही तय करेंगे।

गौरतलब है कि इस रैक का गत दिनों चेन्नई में लोकार्पण किया गया था। इसे विश्वस्तरीय बुलेट ट्रेन जैसा लुक दिया गया है। ट्रेन को आईसीएफ (इंटीग्रल कोच फैक्ट्री) चेन्नई ने बनाया है। रैक पर करीब 100 करोड़ की लागत आई है।

यह ट्रेन सबसे पहले दिल्ली-भोपाल के बीच चलेगी। यह गाड़ी अधिकतम 160 किमी/घंटा से चल सकती है और सबसे अहम बात यह है कि इतनी रफ्तार मात्र 6.2 किमी की दूरी तय कर पर प्राप्त कर लेती है। इसे 16 कोचों के साथ पूरी तरह से वातानुकूलित बनाया गया है।