कुंडली के साथ रक्त कुंडली मिलान का भी कार्य करेगा कोटा ब्लड बैंक

0
807

कोटा। कोटा ब्लड बैंक सोसायटी एक अनूठा प्रयोग कर शहर में आयोजित होने वाले विभिन्न समाजों के विवाह सम्मेलनों में लोगों के ब्लड की जांच कर थैलेसीमिया की जानकारी जुटाएंगे। यह बात कोटा ब्लड बैंक सोसायटी के अध्यक्ष प्रेम बाठला ने रविवार को आयोजित प्रेसवार्ता में दी।

बाठला ने बताया कि इसके अंतर्गत कोटा ब्लड बैंक की ओर से विवाह से पूर्व जन्मपत्री के साथ रक्तपत्री मिलान पर जोर दिया जा रहा है। इस अभियान के तहत कोटा ब्लड बैंक सोसायटी की विभिन्न समाजों की ओर से आयोजित विवाह सम्मेलनों में इसकी जानकारी दिए जाने की योजना है।

सोसायटी वैवाहिक सम्मेलनों में शिविर लगाकर वर-वधु के रक्त की जांच कर लोगों को थैलेसीमिया बीमारी के प्रति जागरूक करेगी । उन्होंने बताया कि कोटा ब्लड बैंक अब रक्त कुंडली मिलान के साथ, रियायती दरों पर लोगों को ब्लड, मल व मूत्र आदि की जांच की सुविधा मुहैया कराएगी।साथ ही  राजस्थान पैरामेडिकल एसोसिएशन के साथ मिलकर लैब टैक्निशियन का कोर्स भी करवाएगा, जिसके लिए राज्य सरकार से 10 सीटों की स्वीकृति मिल चुकी है।

थैलेसीमिया बचाव ही सुरक्षा है
अध्यक्ष प्रेम बाठला ने बताया कि संपूर्ण हाड़ौती में थैलेसीमिया मरीजों को निशुल्क रक्त चढ़ाने की सुविधा प्रदान करने वाला कोटा ब्लड बैंक पहला निजी संस्थान है। पिछले 21 वर्षों से निरंतर सप्ताह के तीन दिन थैलेसीमिया मरीजों को यह सुविधा प्रदान की जा रही है।

कोटा ब्लड बैंक सोसायटी थैलेसीमिया बीमारी के इलाज के साथ-साथ बचाव के क्षेत्र में भी कार्यरत है, जिसके अंतर्गत थैलेसीमिया जांच रियायती दरों पर उच्च गुणवत्ता की मशीन द्वारा की जाती है। उन्होंने बताया कि देश में हर वर्ष 10 हजार से अधिक मरीज थैलेसीमिया के जन्म ले रहे है। थैलेसीमिया की बीमारी के दायरे को कम करने के लिए सोसायटी अग्रसर है।

ब्लड शुगर की जांच पांच रुपए में
कोटा ब्लड बैंक सोसायटी  के सचिव राजकुमार जैन ने बताया कि ब्लड बैंक में पांच रुपए में ब्लड
शुगर की जांच की जाती है, जो कि पूर्व में 20 रुपए में की जाती थी। सोसायटी ने पिछले दिनों लेबोरेट्री की सुविधा भी शुरू कर दी है, जिससे मरीज रक्त, मल एवं मूत्र संबंधी जांचें रियायती दरों पर करवा सकते है। कोटा ब्लड बैंक में हर माह की 1 व 15 तारीख को सभी वरिष्ठजनों व गर्भवती महिलाओं की हीमोग्लोबिन की जांच निशुल्क की जाती है।

थैलेसीमिया से पीडि़त बच्चों को निशुल्क ब्लड
इसके अलावा भी कोटा ब्लड बैंक में कई प्रकार की जांचें रियायती दरों पर की जाती है। जैन ने बताया कि कोटा ब्लड बैंक थैलेसीमिया को लेकर अच्छा कार्य कर रहा है, जिसके अंतर्गत कोटा में थैलेसीमिया से पीडि़त बच्चों को निशुल्क ब्लड आदि भी मुहैया करवाया जाता है। 

पोस्टर का विमोचन
कार्यक्रम में जन्मपत्री से पहले रक्त पत्री मिलाने कार्यक्रम के पोस्टर का विमोचन भी किया गया। कार्यक्रम में सोसायटी के कार्यकारिणी सदस्य हरमीत सिंह आनंद ने थैलेसीमिया वार्ड व लैब के लिए 31 हजार रुपए की राशि का चेक भेंट किया। 

कार्यक्रम में थैलेसीमिया से पीडि़त सलीना शैरी व सुप्रीत ने भी कोटा ब्लड बैंक के कार्यों की सराहना की। इस मौके पर सोसायटी की उपाध्यक्ष लता कोठारी, कोषाध्यक्ष गिरिराज डागा, संयुक्त सचिव संजय सोनी, पूर्व अध्यक्ष डॉ.जे.के.सिंघवी, पूर्व सचिव अशोक शर्मा व डॉ. मनु माथुर आदि उपस्थित थे।