NEET 2018: क्षेत्रीय भाषाओं में भी मिलेगा पेपर, समझिए पूरा पैटर्न

0
156

कोटा। एनटीए की ओर से नीट का ब्रोशर जारी किया जा चुका है। अगले साल नीट का पेपर अंग्रेजी के साथ-साथ क्षेत्रीय भाषा में भी आएगा। अगर किसी स्टूडेंट ने असमी भाषा को चुना है तो उसको असमी के साथ ही अंग्रेजी का पेपर दिया जाएगा। यहां तक कि ऊर्दू के पेपर के साथ भी दूसरी भाषा अंग्रेजी ही होगी। अगर किसी भाषा में सवाल में दिक्कत होती है तो अंग्रेजी में लिखे गए सवाल को ही सही माना जाएगा।

एनटीए ने परीक्षा के पैटर्न, सिलेबस और मार्किंग पैटर्न में किसी भी प्रकार का बदलाव नहीं किया है। पेपर 720 नंबर का ही होगा। फिजिक्स-केमेस्ट्री के 45-45 सवाल पूछे जाएंगे। बॉयोलॉजी के जूलॉजी व बॉटनी को मिलाकर 90 सवाल पूछे जाएंगे। पेपर तीन घंटे का ही होगा। ओएमआर भरने के लिए बॉल पेन सेंटर पर ही दिए जाएंगे। 15 प्रतिशत सीटें एससी, 7.5 प्रतिशत सीटें एसटी व 27 प्रतिशत सीटें सेंट्रल एजुकेशनल इंस्टीट्यूट्स में ओबीसी कैटेगरी के लिए रिजर्व होगी।

ऐसे रहेगा एग्जाम का शिड्यूल
-पेपर का समय : दोपहर 2 से शाम 5 बजे
-एंट्री का टाइम : दोपहर 1:30 बजे तक
-निर्देशों की घोषणा : परीक्षा कक्ष में 1:30 से 1:45 बजे तक

स्टूडेंट खुद चुन सकेंगे सेंटर
नीट को लेकर एफएक्यू भी जारी जारी कर दिए गए हैं। जेईई मेन में स्टूडेंट्स को सेंटर और स्लॉट अलॉट करने का अधिकार नेशनल टेस्टिंग एजेंसी ने अपने पास रखा था। स्टूडेंट्स को शहर चुनने का अधिकार दिया गया है। एक बार सेंटर अलॉट होने के बाद बदला नहीं जाएगा।

फार्म फिलिंग प्रक्रिया 
-एक से 30 नवंबर : ऑनलाइन फार्म फिलिंग प्रक्रिया
-ऑनलाइन फीस जमा करवाने की प्रक्रिया : एक नवंबर से लेकर एक दिसंबर तक
-फाॅर्म फिलिंग में हुए गलतियों को सुधारने का अवसर: 14 जनवरी से 31 जनवरी
-एडमिट कार्ड जारी करने की तारीख: 15 अप्रैल
– एग्जाम: पांच मई
-समय: दोपहर दो बजे से शाम पांच बजे तक