जीएसटी संग्रह दूसरी बार 1 लाख करोड़ के पार

0
27

नई दिल्ली।चालू वित्त वर्ष के अक्टूबर महीने में वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) संग्रह एक लाख करोड़ रुपये का आंकड़ा पार कर गया है। केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने गुरुवार को यह जानकारी दी। सितंबर में जीएसटी संग्रह 94,442 करोड़ रुपये रहा था।

अप्रैल में पहली बार जीएसटी संग्रह एक लाख करोड़ के आंकड़े को पार किया था और तब से लेकर अब तक यह 90 हजार करोड़ रुपये से ऊपर के स्तर पर बना हुआ है। अप्रैल में पहली बार जीएसटी संग्रह एक लाख करोड़ के आंकड़े को पार किया था और तब से लेकर अब तक यह 90 हजार करोड़ रुपये से ऊपर के स्तर पर बना हुआ है।

जेटली ने ट्वीट किया, ‘अक्टूबर में जीएसटी संग्रह एक लाख करोड़ का आंकड़ा पार कर गया है। जीएसटी की सफलता का कारण दरें कम होना, कर की चोरी में कमी, उच्च अनुपालन, एकमात्र कर तथा कर अधिकारियों द्वारा नगण्य हस्तक्षेप है।’

केंद्रीय वित्त मंत्रालय ने चालू वित्त वर्ष के लिए जीएसटी संग्रह का लक्ष्य एक लाख करोड़ मासिक तय किया था। मई में जीएसटी संग्रह 94,016 करोड़ रुपये, जून में 95,610 करोड़ रुपये, जुलाई में 96,483 करोड़ रुपये, अगस्त में 93,960 करोड़ रुपये और सितंबर में 94,442 करोड़ रुपये रहा।