एलन टैलेंटेक्स एग्जाम: 25 राज्यों के 1.60 लाख से अधिक स्टूडेंट्स हुए शामिल

0
112

कोटा। एलन कॅरियर इंस्टीट्यूट द्वारा आयोजित परीक्षा एलन टैलेंटेक्स-2019 की तीसरी  परीक्षा रविवार को देश के 15 राज्यों में आयोजित की गई।  इस वर्ष परीक्षा के लिए देश के 25 राज्यों के 300 से अधिक शहरों में 450 से अधिक टेस्ट सेंटर बनाए गए थे।  तीन तिथियों में हुई इस परीक्षा में 1 लाख 60 हजार से अधिक विद्यार्थी शामिल हुए।

निदेशक बृजेश माहेश्वरी ने बताया कि कक्षा 5 से 11वीं विज्ञान के विद्यार्थियों के लिए होने वाली यह परीक्षा इस वर्ष तीन तिथियों में आयोजित की गई। इस बार अन्तरराष्ट्रीय स्तर पर पहली बार कतर की राजधानी दोहा में यह परीक्षा आयोजित की गई।

माहेश्वरी ने बताया कि पहली तिथि की परीक्षा 9 सितम्बर को महाराष्ट्र के तीन शहरों में 47 परीक्षा केन्द्रों पर यह परीक्षा हुई, जिसमें 7163 विद्यार्थी शामिल हुए। इसके साथ ही दूसरी तिथि की परीक्षा 21 अक्टूबर को देश के 12 राज्यों के 160 शहरों में 87 परीक्षा केन्द्रों पर हुई। इसमें 88491 विद्यार्थी शामिल हुए।

तीसरी व अंतिम तिथि की परीक्षा शेष 15 राज्यों के विद्यार्थियों के लिए परीक्षा 28 अक्टूबर को हुई। इसमें 157 शहरों में 239 परीक्षा केन्द्रों पर 65077 विद्यार्थी शामिल हुए। तीनों तिथियों में हुई इस परीक्षा में कुल 1 लाख 60 हजार 731 विद्यार्थी शामिल हुए।

माहेश्वरी ने बताया कि एलन टैलेंटेक्स परीक्षा राष्ट्रीय ही नहीं वरन अन्तरराष्ट्रीय स्तर पर ख्याति प्राप्त कर रही है। इस वर्ष कतर की राजधानी दोहा में भी इस परीक्षा का आयोजन किया गया। परीक्षा में 2337 विद्यार्थी शामिल हुए।

माहेश्वरी ने बताया कि 28 अक्टूबर को आयोजित परीक्षा में उत्तर प्रदेश में 11972, बिहार में 8040, मध्यप्रदेश में 13846, छत्तीसगढ़ में 1215, झारखंड में 2026, ओडिशा में 2717, आसाम में 208, वेस्ट बंगाल में 1238, आंध्रप्रदेश में 2488, कर्नाटका में 9142, केरला में 83, पुड्डूचेरी में 2001, तमिलनाडू में 7688, तेलंगाना में 1061 और महाराष्ट्र में 1352 विद्यार्थी शामिल हुए।

 माहेश्वरी ने बताया कि परीक्षा के आधार पर श्रेष्ठ रहने वाले विद्यार्थियों को 1.25 करोड़ के पुरस्कार दिए जाएंगे। इन विद्यार्थियों को सत्र 2019-20 के अकादमिक सत्र के लिए 90 प्रतिशत तक स्काॅलरशिप दी जाएगी।

कक्षा 10 व 11 के टाॅपर्स को 2 लाख एवं द्वितीय व तृतीय स्थान पर रहने वाले विद्यार्थियों को 1 लाख का ईनाम दिया जाएगा। कक्षा 8 व 9 में टाॅपर्स को 1 लाख तथा कक्षा 5 से 7 तक के टाॅपर्स को 50 हजार रूपए का पुरस्कार दिया जाएगा।