रुपये की चाल और वैश्विक रुख से तय होगी शेयर बाजार की दिशा

0
55

नयी दिल्ली। कंपनियों के तिमाही नतीजों, वृहत आर्थिक आंकड़ों की घोषणा और रुपये में उतार-चढ़ाव से इस सप्ताह बाजार की दिशा तय होगी। विशेषज्ञों ने यह बात कही। वैश्विक बाजारों में जारी उतार-चढ़ाव भी घरेलू बाजार पर असर डाल सकती है। इस सप्ताह बैंक ऑफ बड़ौदा, टेक महिंद्रा, अडाणी पावर, केनरा बैंक, ल्यूपिन, टाटा मोटर्स, एचडीएफसी, एक्सिस बैंक, एनटीपीसी और पंजाब नेशनल बैंक के तिमाही नतीजे आने हैं।

जियोजित फाइनेंशियल सर्विसेज के शोध प्रमुख विनोद नायर ने बताया, “बाजार में पिछले दो महीने से भारी उतार-चढ़ाव देखने को मिला है और निकट अवधि में तकनीकी कारकों पर विचार करते हुये बाजार में कुछ राहत दिखाई पड़ सकती है। आगामी सप्ताह में कई कंपनियों के परिणाम आने हैं और निवेशक वास्तविक नतीजों की तुलना पहले लगाये गये अनुमानों से करेंगे। जिनसे बाजार की दिशा तय होगी।”

उन्होंने कहा कि यदि वैश्विक स्तर पर शेयर बाजारों में गिरावट जारी रहती है तो निवेशक सोने एवं बांड पर अधिक ध्यान देंगे। एपिक रिसर्च के मुख्य कार्यपालक अधिकारी मुस्तफा नदीम ने कहा, ‘‘विनिर्माण पीएमआई और बुनियादी ढांचा क्षेत्र के आंकड़ें भी आगे आने हैं। आईसीआईसीआई बैंक के नतीजों से भी बाजार दिशा लेगा।

वैश्विक बाजारों के रुख के अनुरूप यहां भी बाजार की चाल रहेगी।’’ आईसीआईसीआई बैंक का सितंबर में समाप्त दूसरी तिमाही का एकीकृत शुद्ध लाभ 42 प्रतिशत घटकर 1,204.62 करोड़ रुपये रह गया है। नतीजों की घोषणा शुक्रवार को बाजार बंद होने के बाद हुई थी। पिछले सप्ताह सेंसेक्स और निफ्टी क्रमश: 966.32 अंक यानी तीन प्रतिशत और 273.55 अंक यानी 2.7 प्रतिशत की गिरावट के साथ बंद हुये।