मुद्रा विनिमय मेले में 2 करोड़ रुपये से अधिक की राशि का आदान-प्रदान

0
163

जयपुर। आईसीआईसीआई बैंक ने हाल ही में राजस्थान में अपनी चुनिंदा शाखाओं में 200 मुद्रा विनिमय मेलों का आयोजन किया। जिनमें 2 करोड़ रुपये से अधिक की राशि का आदान-प्रदान
किया। इन मेलों का आयोजन भारतीय रिजर्व बैंक के तत्वावधान में किया गया था। मेलों का उद्देश्य आम लोगों को सिक्कों का वितरण करना और कटे-फटे नोटों के बदले नए नोट प्रदान करना था। यह पहल आरबीआई की स्वच्छ नोट नीति के अनुरूप है।

भारतीय रिजर्व बैंक, जयपुर के इश्यु डिपार्टमेंट की सहायक महाप्रबंधक  सुनीता मीणा ने जयपुर में बैंक की अहिंसा सर्किल शाखा में इस कार्यक्रम का उद्घाटन किया। बैंक ने जयपुर, जोधपुर, उदयपुर, कोटा, अलवर, अजमेर, बीकानेर में अपनी शाखाओं में ‘‘पावर ऑफ वन‘‘ अभियान के हिस्से के रूप में सिक्का विनिमय मेलों का आयोजन किया।

मेलों में इन शहरों के करीब 2,000 ग्राहकों ने भागीदारी निभाई, जिसमें उन्होंने 10, 20, 50, 100 और 200 रुपए की नई करेंसी और 10, 5, 2 और 1 रुपए मूल्य वाले सिक्कों के साथ लगभग 2 करोड़ रुपये से अधिक की राशि का आदान-प्रदान किया।

व्यापारियों, खुदरा विक्रेताओं, सेवानिवृत्त व्यक्तियों सहित सभी वर्गों के लोगों ने इन मेलों में भाग लिया और आवश्यकता के अनुसार मुद्रा का आदान-प्रदान किया। कारोबारी लोगों ने इन मेलों के जरिए कम मूल्य के नोट और सिक्के हासिल किए, ताकि वे अपने रोजमर्रा का लेन-देन आसानी से कर सकें।

आम लोगों को कटे-फटे नोटों के बदले नई करेंसी उपलब्ध कराने और उनकी जरूरत के अनुसार सिक्कों का वितरण करने के लिए आईसीआईसीआई बैंक समय-समय पर मुद्रा विनिमय मेलों का आयोजन करता रहा है। ऐसे मेलों के माध्यम से कोई भी नागरिक निशुल्क रूप से सिक्कों और करेंसी का आदान-प्रदान कर सकता है।