रजा मुराद ने किया जब कजिन का रेप, जानिए कब और कैसे

0
66

मुंबई। इन दिनों #MeToo कैंपेन बॉलीवुड सेलेब्स की पोल खोल रहा है। कई महिला सेलिब्रिटीज कलीग्स पर रेप और छेड़छाड़ के आरोप लगा चुकी हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं कि एक फिल्म की शूटिंग के दौरान ऐसा मौका भी आया था, जब एक्ट्रेस को अपने कजिन के साथ रेप सीन शूट करना पड़ा था। हम बात कर रहे हैं कई सुपरहिट फिल्मों में काम कर चुकीं जीनत अमान की।

1987 में आई फिल्म डाकू हसीना में उनके फर्स्ट कजिन रजा मुराद विलेन (भंवर सिंह) के रोल में थे। इसी फिल्म में रेप सीन भी फिल्म में डाला गया था। जब मुराद को बताया गया कि उन्हें जीनत के साथ एक रेप सीन शूट करना है तो वे पीछे हट गए।

क्योंकि उनके दिमाग में एक ही बात थी कि जीनत असल रिश्ते में उनकी बहन लगती हैं। फिल्म के डायरेक्टर अशोक राव ने उन्हें मनाने की बहुत कोशिश की। लेकिन वे यही कह रहे थे कि कैसे वे अपनी बहन के साथ रेप सीन शूट कर सकते हैं।

कजिन ने मनाया
फिल्म के मेकर्स जब मना-मनाकर हार गए तो उन्होंने मुराद को मनाने का जिम्मा जीनत को सौंप दिया। जीनत ने मुराद को समझाया कि वे प्रोफेशनल हैं और आर्टिस्ट्स होने के नाते जरूरी है कि रिश्तों को किनारे रखकर काम के बारे में सोचें। मुराद को जीनत की बात समझ आ गई और वे रेप सीन शूट करने को तैयार हो गए।

एक इंटरव्यू के दौरान मुराद ने कहा था कि सीन के बारे में उन्हें फिल्म साइन करने से पहले बता दिया गया था। लेकिन फिल्मिंग के दौरान उन्हें यह ठीक नहीं लग रहा था। मुराद के मुताबिक, जीनत के साथ शूट किया गया यह सीन उनके करियर के सबसे मुश्किल सीन्स में से एक था।

ये थी फिल्म की कहानी
कहानी के मुताबिक, रूपा सक्सेना (जीनत अमान) अपने पेरेंट्स के मर्डर के बाद अदालत के चक्कर काटती है। लेकिन जब उसे पता चलता है कि कातिल ने सभी गवाहों को खरीद लिया है तो वह बदला लेने के लिए डकैत बन जाती है और अपना नाम डाकू हसीना रख लेती है।

पुलिस डाकू हसीना का केस एसपी रंजीत सक्सेना (राकेश रोशन) को सौंपती है। लेकिन बाद में पता चलता है कि रंजीत हसीना का भाई है। फिर दोनों मिलकर अपने पेरेंट्स की मौत का बदला लेते हैं।

फिल्म में रजनीकांत भी थे
सुपरस्टार रजनीकांत का इस फिल्म में स्पेशल अपीयरेंस था। उन्होंने डाकू मंगल सिंह का रोल किया था, जिसके गिरोह का सहारा लेकर रूपा डाकू हसीना बनती है। फिल्म बॉक्सऑफिस पर फ्लॉप साबित हुई थी। बाद इसे तमिल में Latchathil Oruvan नाम से डब किया गया था।