तिरुपति में 14 हजार लड्डू का घोटाला! ब्लैक में बेचने का शक

0
140

तिरुपति। नवरात्र खत्म होते ही आंध्र प्रदेश में स्थित प्रसिद्ध तिरुपति मंदिर में लड्डू घोटाला सामने आया है। नवरात्र ब्रह्मोत्सव के बाद यह बात कही जा रही है कि कॉन्ट्रैक्ट पर रखे गए कुछ कर्मचारियों ने मंदिर में प्रसाद के रूप में दिए जाने वाले लड्डुओं में से 14,000 लड्डू ब्लैक मार्केट में डायवर्ट करने की कोशिश की। बता दें कि मंदिर में दर्शनार्थियों को टोकन के आधार पर लड्डू दिए जाते हैं।

इस घटना से मंदिर का संचालन करने वाला तिरुमाला तिरुपति देवस्थानम (टीटीडी) सकते में है। बताया गया कि नवरात्र ब्रह्मोत्सव के दौरान गरुड़ सेवा पर भक्तों की भारी भीड़ की उम्मीद में टीटीडी की ओर से मैन्युअल सिस्टम की व्यवस्था की गई थी। ट्र्स्ट का यही फैसला अब गले की फांस बन गया है।

सूचना के मुताबिक, 14, 15 और 16 अक्टूबर को कुल 30 हजार टोकेन दिए गए, जिसमें 100 रुपये (चार लड्डू के लिए) वाले और 50 रुपये (दो लड्डू के लिए) वाले टोकेन शामिल थे। काउंटर से दिए गए ये सभी टोकेन ऑनलाइन की बजाय मैन्युअल तरीके से बांटे गए थे।

लड्डू प्रसादम टिकट (एलपीटी) कांउटर्स पर काम करने वाले कर्मचारियों पर शक है कि उन लोगों ने पुरानी टोकेन संख्या से ही दोबारा 14 हजार ज्यादा लड्डू ले लिए जबकि पहले उन्हीं टोकेन्स पर लड्डुओं को ज्यादा कीमत पर बेचा जा चुका था। टीटीडी विजिलेंस टीम को मिली सूचना के बाद मामले की जांच शुरू कर दी गई।

आरोप है कि इन लोगों ने डबल एंट्री और ड्यूप्लिकेशन के माध्यम से यह घोटाला किया। अभी भी रेकॉर्ड्स से घोटाले की तह तक जाने की कोशिश हो रही है। टीटीडी के चीफ विजिलेंस और सिक्यॉरिटी ऑफिसर टी शिव कुमार रेड्डी ने कहा कि जांच हो रही है और कुछ कर्मचारियों से पूछताछ भी हुई है।

क्या है लड्डू मिलने का सिस्टम?
तिरुपति मंदिर के लड्डू काफी प्रसिद्ध हैं। ‘दिव्य दर्शन’ के लिए अलिपरी और श्रीवरी मेट्टू की पदयात्रा करने वाले दर्शनार्थियों को 10 रुपये में सब्सिडाइज्ड रेट पर दो लड्डू दिए जाते हैं और अतिरिक्त के रूप में एक और लड्डू मिल सकता है। ‘सर्वदर्शन’ (मुफ्त में दर्शन) में भी 10 रुपये में दो लड्डू मिलते हैं।

300 रुपये वाली स्पेशल एंट्री में दो लड्डू फ्री मिलते हैं लेकिन अतिरिक्त लड्डू के लिए 25 रुपये प्रति लड्डू की दर से देना होता है। दर्शनार्थियों के अलावा ट्रस्ट अपने वर्तमान और रिटायर्ड कर्मचारियों को पांच रुपये प्रति लड्डू के हिसाब से हर महीने 10 लड्डू देता है।