गिरावट पर ब्रेक, सेंसेक्स 97 अंक बढ़ा, निफ्टी 10350 के करीब बंद

0
20

नई दिल्ली। रुपए में कमजोरी बढ़ने से दोपहर को घरेलू शेयर बाजार ने पूरी बढ़त गंवा दी है। डॉलर के मुकाबले रुपया 74 प्रति डालर के पार जाने के बाद बैंकिंग, मेटल, ऑटो, फार्मा, आईटी और रियल्टी शेयरों में गिरावट बढ़ने से बाजार लाल निशान में पहुंच गया। सेंसेक्स 97 अंक चढ़कर 34,474 और निफ्टी 32 अंक की उछाल के साथ 10,348 के स्तर पर बंद हुआ।

मिडकैप और स्मॉलकैप भी गिरे
लार्जकैप शेयरों के साथ ही मिडकैप और स्मॉलकैप शेयरों में भी कमजोरी नजर आ रही है। बीएसई का मिडकैप इंडेक्स 1.50 फीसदी गिरा है जबकि निफ्टी मिडकैप 100 इंडेक्स 1.60 फीसदी कमजोर हुआ है। बीएसई का स्मॉलकैप इंडेक्स 1.28 फीसदी गिरा है।

किन शेयरों में तेजी, किनमें गिराव
कारोबार के दौरान यस बैंक, ओएनजीसी, एसबीआई, कोल इंडिया, कोटक बैंक, रिलायंस इंडस्ट्रीज, आईसीआईसीआई बैंक, एशियन पेंट्स, एक्सिस बैंक में बढ़त है। वेदांता, विप्रो, एचडीएफसी, टीसीएस, आईटीसी, एचयूएल, इंफोसिस, सन फार्मा, बजाज ऑटो, मारुति गिरा है।

निफ्टी पर सेक्टोरल इंडेक्स 11 में से 8 इंडेक्स गिरे
मेटल, ऑटो, एफएमसीजी, आईटी और फार्मा शेयरों में बिकवाली से बाजार पर दबाव देखने को मिल रहा है। निफ्टी का मेटल इंडेक्स 2.6 फीसदी टूट गया है, जबकि निफ्टी के आईटी इंडेक्स में 1.18 फीसदी और ऑटो इंडेक्स में 1.31 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई है।

हालांकि बैंक निफ्टी 0.33 फीसदी की बढ़त के साथ 24,524.50 के स्तर पर कारोबार कर रहा है। वहीं पीएसयू बैंक इंडेक्स 0.43 फीसदी और प्राइवेट बैंक इंडेक्स में 0.31 फीसदी की तेजी है।

FPI ने सिर्फ 4 दिन में 9300 करोड़ रुपए निकाले
फॉरेन पोर्टफोलियो इन्वेस्टर्स (FPIs) ने पिछले चार ट्रेडिंग सेशन में इंडियन कैपिटल मार्केट से 9,300 करोड़ रुपए (130 करोड़ डॉलर) निकाले। FPI की ओर से निकासी की अहम वजह क्रूड की कीमतों में तेजी और रुपए में गिरावट रही।

इससे पहले पिछले महीने विदेशी निवेशकों ने शेयर और डेट मार्केट से 21,000 करोड़ रुपए से अधिक की निकासी की। इससे पहले जुलाई-अगस्त के दौरान निवेशकों ने 7,400 करोड़ रुपए का निवेश किया था।