अब अंधे-बहरे भी देख सकेंगे टेलीविजन , नई तकनीक का कमाल

0
63

लंदन। अब अंधे-बहरे भी टीवी देख सकेंगे । यह कोई मजाक नहीं, बल्कि सच है।   शोधकर्ताओं ने एक ऐसी तकनीक विकसित की है, जो ब्रेल को वास्तविक समय में टाइप करती है और नेत्रहीन व बहरे लोगों को बिना किसी की सहायता के टीवी देखने में मदद करती है। 

यूनिवर्सिडाड कालोर्स थर्ड डे मैड्रिड के शोधकतार्ओं ने एक प्रसारित हो सकने वाले ‘परवैसिव सब प्रोजेक्ट’ चलाया है, जो टेलीविजन चैनलों के उपशीर्षकों को संकलित करता है और उन्हें मुख्य सर्वर को भेजता है, जो आगे उसे फिर स्मार्टफोन और टैबलेट को भेजता है।वहां उन्हें एक एप्लिकेशन के माध्यम से अंधे-बहरे शख्स के ब्रेल लाइन को भेजा जाता है, जिससे अच्छे सिंक्रोनाइजेशन के साथ टीवी ब्रॉडकास्ट से सीधे कैप्चर हुए उपशीर्षकों की गति को नियंत्रित किया जा सकता है। 

स्पेनिश ब्रॉडबैंड और दूरसंचार प्रदाता टेलीफोनिका द्वारा परवैसिवसब वित्त पोषित है। टेलीफोनिका (सस्टेनेबल इनोवेशन) के निदेशक अरांका डियाज-लाडो ने एक बयान में कहा, ‘टेलीफोनिका में हम और अधिक सुलभ कंपनी बनने का प्रयास करते हैं और इस तरह हम सभी के लिए समान अवसर पैदा कर रहे हैं।

 हालांकि हमें अभी लंबा सफर तय करना है ।’ नई तकनीक और डिजिटल क्रांति हमें वहां पहुंचने में मदद करने वाला सबसे अच्छा माध्यम है।’ परीक्षण सफल रहा है और मैड्रिड के सभी राष्ट्रीय और क्षेत्रीय डिजिटल टेरेस्ट्रियल टेलीविजन (डीटीटी) चैनलों के साथ इस सुविधा को जोड़ दिया गया है। शोधकतार्ओं का दल जरूरतमंदों को यह सुविधा मुफ्त में प्रदान कर रहा है।