विधान सभा चुनाव: राजस्थान में मतदान 7 दिसंबर, परिणाम 11 को

0
97

जयपुर। राजस्थान सहित पांच राज्यों में चुनाव तारीखों का ऐलान चुनाव आयोग ने शनिवार को कर दिया। राजस्थान में 7 दिसंबर को विधानसभा चुनाव के लिए वोट डाले जाएंगे। चुनाव एक चरण में होगा। परिणाम 11 दिसंबर को आएंगे। चुनाव आयुक्त ओपी रावत ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर चुनाव कार्यक्रम के बारे में जानकारी दी। इसी के साथ राज्य में आदर्श आचार संहिता लग गई है।

राजस्थान में अभी मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के नेतृत्व वाली भाजपा की सरकार है। राज्य की कुल 200 विधानसभा सीटों पर चुनाव होंगे। चुनाव की पूरी प्रक्रिया दिसंबर के दूसरे हफ्ते तक पूरी हो जाएगी। राज्य में कुल 4 करोड़ 74 लाख, 79 हजार 402 मतदाता वोटिंग करेंगे।

राजस्थान का चुनावी कार्यक्रम
नोटिफिकेशन : 12 नवंबर
नॉमिनेशन की आखिरी तारीख : 19 नवंबर
नॉमिनेशन की स्क्रूटनी : 20 नवंबर
नॉमिनेशन वापस लेने की आखिरी तारीख : 22 नवंबर
वोटिंग : 7 दिसंबर
सभी राज्यों में विधानसभा चुनाव के नतीजे 11 दिसंबर को घोषित होंगे।

ये प्रमुख नेता आजमाएंगे किस्मत: राज्य में मुख्यमंत्री वसुंधारा राजे के अलावा कांग्रेस से पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सचिन पायलट, नेता प्रतिपक्ष रामेशवर डूडी इस चुनाव में किस्मत आजमाने वाले हैं। 

फैक्ट फाइल

  • राज्य में कुल 4 करोड़ 74 लाख, 79 हजार 402 मतदाता 
  • 2 करोड़, 47 लाख, 60 हजार, 755 पुरुष 
  • 2 करोड़ 27 लाख 18 हजार 647 महिला मतदाता
  • 1 लाख 13 हजार 642 सर्विस मतदाता 
  • वर्ष 2013 के विधानसभा चुनाव के दौरान प्रदेश में कुल मतदाताओं की संख्या 4 करोड़ 7
  • लाख 26 हजार 144 थी। इस तरह 67 लाख 53 हजार से ज्यादा मतदाता बढ़े हैं।

उपचुनाव में हारी थी भाजपा: 2014 लोकसभा चुनाव में कांग्रेस ने एक भी सीट नहीं जीती थी, जबकि 2013 में विधानसभा चुनाव में बीजेपी ने 200 सीटों में से 163 सीट जीती थीं। गत फरवरी में हुए उपचुनाव में राजस्थान की दो लोकसभा सीटों और एक विधानसभा सीट पर भाजपा को जबरदस्त हार का सामना करना पड़ा था। यहां अजमेर और अलवर की लोकसभा तथा मांडलगढ़ विधानसभा सीट पर उपचुनाव हुआ था।

यह भी पढ़ें: राज. एमपी और छत्तीसगढ़ में बीजेपी से छिनेगी सत्ता, कांग्रेस की वापसी, सर्वे  

किसको मिली कितनी सीटें

पार्टी सीटें
भाजपा16
कांग्रेस  21
बसपा
3
अन्य
13 
कुल सीटें
200

उपचुनाव में हारी थी भाजपा: 2014 लोकसभा चुनाव में कांग्रेस ने एक भी सीट नहीं जीती थी, जबकि 2013 में विधानसभा चुनाव में बीजेपी ने 200 सीटों में से 163 सीट जीती थीं। गत फरवरी में हुए उपचुनाव में राजस्थान की दो लोकसभा सीटों और एक विधानसभा सीट पर भाजपा को जबरदस्त हार का सामना करना पड़ा था। यहां अजमेर और अलवर की लोकसभा तथा मांडलगढ़ विधानसभा सीट पर उपचुनाव हुआ था। 
ये प्रमुख नेता आजमाएंगे किस्मत: राज्य में मुख्यमंत्री वसुंधारा राजे के अलावा कांग्रेस से पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सचिन पायलट, नेता प्रतिपक्ष रामेशवर डूडी इस चुनाव में किस्मत आजमाने वाले हैं।