पैलेस ऑन व्हील्स लगातार दूसरी बार चार्टर यात्रा पर

0
50

जयपुर । भारतीय रेल एवं राजस्थान पर्यटन विकास निगम (आरटीडीसी) के सौजन्य से चलाई जा रही शाही रेलगाड़ी ’पैलेस ऑन व्हील्स’ इस पर्यटन सत्र में पहली बार लगातार दूसरी बार चार्टर यात्रा पर आज बुधवार को अपनी गंतव्य यात्रा पर नई दिल्ली के सफदरजंग रेलवे स्टेशन से भारत सहित अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया, साउथ अफ्रीका, कनाडा, न्यूजीलैण्ड, डच, फ्रांस आदि देशों के 69 यात्रियों के साथ रवाना हुई ।

पैलेस ऑन व्हील्स के महाप्रबंधक प्रदीप बोहरा ने बताया कि पूरी रेलगाड़ी सभी आधुनिक सुख सुविधाओं से सुसज्जित एवं वातानुकूलित 41 केबिन्स को 1.30 करोड़ रु. में चार्टर बुक करवा जयपुर सवाईमाधोपुर – चित्तौडग़ढl, उदयपुर , जैसलमेर, जोधपुर, भरतपुर और आगरा की यात्रा बुधवार को पूरी की है।

उन्होंने बताया कि शाही रेलगाड़ी को पहली बार सोलो टूरिस्ट्स के लिए चार्टर ट्रैन और इस पर्यटन सत्र में पहली बार लगातार दूसरी बार चार्टर यात्रा बुक करवाए जाने का श्रेय वर्ल्डवाइड जर्निस प्राइवेट लिमिटेड को जाता है। वर्ल्डवाइड जर्निस के  मनीष सोनी के अनुसार बुधवार  को चार्टर ट्रैन में विभिन्न देशो के सैलानी 39 केबिन्स में सवार हो कर यात्रा के लिए रवाना हुए हैं।

आरटीडीसी के नई दिल्ली में महाप्रबंधक संजीव शर्मा ने बताया कि विगत छत्तीस वर्षों से भारतीय रेलवे ट्रैक पर दौड़ रही और अपनी अत्यंत विलासितापूर्ण यात्रा के लिए देश – दुनिया में मशहूर अद्वितीय शाही रेलगाड़ी लेजेंडरी ’पैलेस ऑन व्हील्स’ ने अपने गौरवपूर्ण इतिहास में कई नये आयाम जोड़े हैं ।

उन्होंने बताया कि शाही रेलगाड़ी इस पर्यटक सत्र (सितम्बर, 2018 से अप्रैल, 2019) के दौरान कुल 34 फेरों की यात्रा पूरी करेगी। शाही रेलगाड़ी को उसके पुराने वैभव एवं परिवेश के अनुरूप नए अवतार में सुसज्जित किया गया है।

उन्होंने बताया कि ट्रेन का सितम्बर 2018 व अप्रैल 2019 माह का किराया रियायती दर पर 500 यू एस डॉलर प्रति यात्रा प्रति रात रखा गया है, जबकि शेष माह में 650 यू एस डॉलर (भारतीय रू में लगभग 45 हजार रु ) प्रति यात्रा प्रति रात्रि है। माह अक्टूबर 2018 से माह मार्च 2019 तक यह किराया डबल ओक्यूपेंसी में 650 यू एस डॉलर तथा सिंगल ऑक्योपेंसी में 865 यू.एस.डॉलर प्रति यात्रा प्रति रात है ।

उल्लेखनीय है कि पैलेस ऑन व्हील्स ने इस पर्यटन सत्र की अपनी पहली यात्रा गत 5 सितम्बर को रेल्वे बोर्ड के मेंबर गिरीश पिल्लई , अतिरिक्त मेंबर संजीव गर्ग एवं राजस्थान पर्यटन विकास निगम के प्रबंध निदेशक एच गुईटे उपस्थिति में प्रारम्भ की गई थी।

इस शाही रैलगाडी में 39 डीलक्स एवं 2 सुपर डीलक्स कैबिन है। इस बार पूरी ट्रैन का पुरानी पैलेस ऑन व्हील्स के अनुरूप रंग रोगन करवाया गया है तथा सभी पर्दे, सोफे के कवर, कॉरपेट आदि भी बदले गए हैं। कीचन का भी आधुनिकीकरण किया गया है।

ट्रैन में बायो टॉयलेट्स, एलई डी लाइटें व पेंटिग्स साथ ही कैबिन्स के नाम भी राज्य की विभिन्न पूर्व रियासतों के नाम पर रखे गये हैं,। ट्रैन में दो बार लाउंज महाराजा और महारानी हैं। इसके अलावा रेलगाड़ी में स्पॉ, जिम और अन्य सभी आधुनिक सुख सुविधाएं भी हैं।