भारत में चार सालों में दोगुनी हुई महिला पायलटों की संख्या

0
23

नई दिल्ली। ‘मिस्टर ट्रंप देखिए, हमारी महिलाएं आपकी तरफ जा रही हैं!’ यह मेसेज एयर इंडिया पायलट के वॉट्सऐप ग्रुप में कुछ महीने पहले वायरल हुआ था, तब महिला दिवस के दिन विमानन कंपनी अमेरिका जाने और वहां से आने वाले सभी विमानों को महिला क्रू मेंबर से लैस कर इसका जश्न मना रही थी।

उस दिन चार मार्गों दिल्ली से न्यूयॉक, शिकागो, सैन फ्रांसिस्को और मुंबई से नेवार्क और सैनफ्रांसिस्को से दिल्ली के लिए 20 महिला पायलटों को तैनात किया गया था। एयर इंडिया में फिलहाल 280 महिला पायलट हैं जो कि कुल पायलटों की संख्या का 12.8 प्रतिशत हैं।

एयर इंडिया ग्रुप के मुताबिक, घरेलू विमानन कंपनियों के पायलटों की संख्या 8,797 है जिसमें 12.4 प्रतिशत 1092 महिला पायलट हैं। वास्तव में भारत में महिला पायलटों की संख्या चार सालों में दोगुनी हुई है। 2014 में घरेलू विमानन कंपनियों के 5,050 पायलटों में 586 महिला पायलट थीं।

वैश्विक रूप से देखा जाए तो भारत उन देशों की श्रेणी में शामिल है जहां महिला पायलटों की संख्या सबसे अधिक है। अमेरिका और ऑस्ट्रेलिया जैसे बड़े उड्डयन बाजार में महिला पायलटों की संख्या कुल वर्क फोर्स का 5 प्रतिशत है।

इंटरनैशनल सोसायटी ऑफ वुमन एयरलाइन पायलट में प्रकाशित रिपोर्ट के मुताबिक, विश्व भर में फिलहाल 7,409 महिला पायलट काम कर ही हैं जो कि कुल वर्क फोर्स का 5 प्रतिशत हैं। इसके मुताबिक, हाल के वक्त में भारत में पेशेवर महिला पायलटों की संख्या में सबसे अधिक तेजी आई है।