बैंकों के विलय प्रस्ताव के विरोध में बैंक कर्मी एवं अधिकारियों ने किया प्रदर्शन

0
29

कोटा। यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियंस के आव्हान पर बैंक कर्मी एवं अधिकारियों ने केंद्र सरकार द्वारा आननफानन में तीन बैंकों बैंक ऑफ बड़ौदा, देना बैंक तथा विजया बैंक के विलय के निर्णय के विरोध में बैंक ऑफ बड़ौदा झालावाड़ रोड शाखा के सामने प्रदर्शन किया। प्रधानमंत्री एवं वित्त मंत्री के पुतलों का दहन भी किया गया

बैंक कर्मी एवं अधिकारी नेताओं ने अपने संबोधन म बताया की बैंकों के विलय से बैंकिंग उद्योग,आम जनता तथा कर्मियों का कोई भला होने वाला नहीं है उन्होंने पूर्व में हुए एसोसिएट बैंको के भारतीय स्टेट बैंक का उदाहरण देते हुए बताया कि विलय के बाद एनपीए में वृद्धि हुई तथा बैंक घाटे में चल गया।

यह भी पढ़ें : मोदी सरकार का फैसला उल्टा पड़ा, निवेशकों के डूब गए 6 हजार करोड़

उन्होंने विलय के बजाय एनपीए की वसूली के लिए कारगर कदम उठाने पर जोर दिया। सरकार के इस कदम से बैंक कर्मियों में रोष व्याप्त है। बैंक कर्मी नेताओं ललित गुप्ता,पदम पाटोदी संजीव झा, अनिल ऐरन, गजानंद मीणा, डीएस साहू, मुकेश वर्मा, आईएल मीणा, पी सी गोयल, डी के गुप्ता, आर बी मालव, रवि कांत शर्मा, सुरेश खंडेलवाल, राजीव सहगल आदि ने संबोधित किया