ट्रेड वार: ट्रंप ने 14.40 लाख करोड़ के चीनी समान पर लगाया ट्रैरिफ

0
36

वाशिंगटन। अमेरिका और चीन के बीच चल रहा ट्रेड वार खत्म होने का नाम नहीं ले रही है। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के प्रशासन ने इस माह 200 अरब डॉलर (14.40 लाख करोड़ रुपए) के चीनी समानों पर 10 फीसदी टैरिफ बढा दिया है। इस साल के अंत तक इन समानों पर लगने वाला टैरिफ बढ़कर 25 फीसदी हो जाएगा।

इस कदम से चीन और अमेरिका के बीच छिड़ी कारोबारी जंग और बढ़ जाएगी। अमेरिकी प्रशासन ने ऐलान किया है कि अतिरिक्त टैरिफ 24 सितंबर से लागू होेंगे। इससे पहले अमेरिका ने 50 अरब डॉलर के चीनी समानों पर टैरिफ लगाया था। इसका मतलब है कि चीन की ओर से अमेरिका को बेचे जाने वाले करीब आधे प्रोडक्ट्स पर असर पड़ेगा।

300 से ज्यादा प्रोडक्ट को लिस्ट से हटाया
जुलाई में अमेरिकी प्रशासन ने ताजा ट्रैरिफ राउंड में शामिल होने वाले हजारों प्रोडक्ट्स की लिस्ट को प्रकाशित किया था। हालांकि, स्मार्टवॉच, हेल्थ एंड सेफ्टी डिवाइस और बच्चों के प्लेपेन समेत 300 से ज्यादा प्रोडक्ट्स को लिस्ट से हटा दिया गया।

एक ओर जहां वाशिंगटन और बीजिंग के बीच व्यापार वार्ता दोबारा शुरू करने पर काम चल रहा है, वहीं ट्रंप ने अपने सलाहकारों से कहा है कि वह 200 अरब डॉलर राउंड के साथ दबाव बनाना शुरू करें। ट्रंप ने फैसले से चीन के साथ राजनैतिक बातचीत की संभावाएं भी खतरे में पड़ गई हैं।

ट्रंप ने कहा- चीन को काफी मौका दिया गया
व्हाइट हाउस की ओर से जारी बयान में ट्रंप ने कहा कि चीन के पास हमारी चिंताएं समझे का कई मौका दिया गया। मैं एक बार फिर चीन के नेताओं से मांग कर रहा हूं कि वह अपने देश की अनुचित व्यापार कार्यप्रणाली को खत्म करने पर काम करे।

ट्रंप की धमकी
ट्रंप ने यह भी धमकी दी है कि अगर चीन ने किसी भी तरह से बदला देने वाला काम किया तो उसे अतिरिक्त टैरिफ के तौर पर और ज्यादा आर्थिक नुकसान झेलना पड़ेगा।

चीन ने कहा- टैरिफ लगाया तो नहीं होगी कोई सुलह
अमेरिका के ट्रेजरी सेक्रेटरी स्टीवन म्युचिन ने इस हफ्ते दोबारा वार्ता शुरू करने के लिए चीन के मध्यस्थों को वाशिंगटन आमंत्रित किया है। लेकिन चीन ने कहा है कि अगर अमेरिका और टैरिफ लगाता है वह उसका ऑफर स्वीकार नहीं करेगा।