पेट्रोल की आग घर तक पहुंची, साबुन, समेत कई चीजें महंगी

0
98

नई दिल्ली। पेट्रोल की बढ़ती कीमत का सीधा असर आपकी जेब पर पड़ने जा रहा है। जल्द ही, रोजाना इस्तेमाल होने वाली कई जरूरत की चीजों की कीमतें बढ़ने जा रही हैं। इनमें साबुन, डिटरजेंट, त्वचा की देखभाल वाली चीजें, बिस्कुट, हेयर ऑयल, टूथपेस्ट व एयरफ्रेशनर्स जैसे आइटम शामिल हैं।

सब्जियों की कीमतों पर भी पेट्रोल-डीजल के दाम में बढ़ोतरी का असर दिखने लगा है। इस बीच कांग्रेस पार्टी के सदस्य सोमवार को पेट्रोल की बढ़ती कीमतों के विरोध में पेट्रोल पंप पर धरना देंगे।

क्यों बढ़ेंगी कीमतें
साबुन, डिटरजेंट, हेयर ऑयल जैसे आइटम में पेट्रोलियम पदार्थों का इस्तेमाल होता है। घरेलू स्तर पर पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़ने से इन आइटम की लागत बढ़ रही है। विशेषज्ञों के मुताबिक सितंबर माह के दूसरे सप्ताह से इन आइटम के खुदरा दाम में 5-8 फीसदी की बढ़ोतरी हो सकती है।

जो सामान 100 रुपये में मिल रहे हैं, वे अगले सप्ताह से 105 से 108 रुपये तक में मिलेंगे। डॉलर के मुकाबले रुपये में लगातार आने वाली गिरावट से सरकार को पेट्रोल-डीजल के आयात के लिए अधिक कीमत देनी पड़ रही है। एक डॉलर का मूल्य 71 रुपये से अधिक हो गया है।

सब्जी-फल के भाव पर भी असर
मुख्य रूप से डीजल के दाम बढ़ने से सब्जी व फल भी महंगे हो रहे हैं। सब्जी व फल की ढुलाई में डीजल से चलने वाले वाहनों का इस्तेमाल होता है। आजादपुर मंडी के व्यापारी हीरा सिंह ने बताया कि महाराष्ट्र से आने वाले प्याज की एक बोरी की ढुलाई की लागत पहले लगभग 60 रुपये होती थी जो बढ़कर 64-65 रुपये हो गई है। इसकी वसूली आम उपभोक्ता से ही की जाएगी।

कांग्रेस का आरोप
कांग्रेस का कहना है कि अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के दाम में कमी के बावजूद भारत में पेट्रोल –डीजल के दाम बढ़ रहे हैं। इसलिए पार्टी ने सोमवार को भारत बंद करने का फैसला किया है। कांग्रेसी कार्यकर्ता इस दिन सुबह 9 बजे से दोपहर 3 बजे तक पेट्रोल पंप धरना भी देंगे।