Jee Mains अब 6 बार तक दे सकेंगे, 2 एग्जाम को गिना जाएगा एक

0
41

कोटा।  जेईई मेन का नोटिफिकेशन जारी होने के बाद अब एनटीए ने एफएक्यू जारी किया है। इसमें यह स्पष्ट किया गया कि साल में दो बार होने वाले मेन के एग्जाम को एक ही अटेंप्ट में गिना जाएगा। ऐसे में अब स्टूडेंट्स के पास एडवांस्ड के लिए क्वालीफाई करने व एनआईटी सिस्टम में दाखिला लेने के लिए तीन की जगह छह एग्जाम का ऑप्शन रहेगा। 

इंफॉरमेशन बुलेटिन में जारी जानकारी के अनुसार पहली बार जेईई मेन स्कोर के आधार पर पर्सेंटाइल 7 डेसीमल तक निकालकर विद्यार्थियों की ऑल इंडिया रैंक जारी की जाएगी। यह पर्सेंटाइल एक सेशन में बैठने वाले विद्यार्थियों की संख्या एवं उस सेशन में अधिकतम अंक के आधार पर जारी होगी।

यदि विद्यार्थी दोनों जेईई मेन परीक्षाएं देता है तो उसके दोनों परीक्षाओं के अधिकतम अंक के आधार पर निकाली गई पर्सेंटाइल के आधार पर ही उसकी ऑल इंडिया रैंक घोषित की जाएगी। जेईई मेन ऑनलाइन परीक्षा के हर सेशन में यह पर्सेंटाइल का नियम लागू किया जाएगा। एग्जाम के सभी सेशन में बैठने वाले विद्यार्थियों की पर्सेंटाइल स्कोर को मर्ज कर नॉर्मलाइज किया जाएगा।