एक्साइज ड्यूटी नहीं घटाई तो पेट्रोल के दाम दिसंबर तक 100 के पार

0
72

मुंबई। अगर सरकार की तरफ से उत्पाद कर में कोई बदलाव नहीं किया गया और पेट्रोल के खुदरा दाम में इसी रफ्तार से बढ़ोतरी जारी रही तो इस साल दिसंबर तक पेट्रोल की कीमत 100 रुपये प्रति लीटर हो सकती है।

यूएस एनर्जी इनफॉर्मेशन एडमिनिस्ट्रेशन (ईआईए) के अनुमान के मुताबिक दिसंबर, 2018 तक कच्चे तेल के दाम 85 डालर प्रति बैरल के स्तर पर पहुंच सकते हैं, ऐसे में भारत में पेट्रोल की खुदरा कीमत 100 रुपये प्रति लीटर हो सकती है।

दूसरी तरफ डॉलर के मूल्य में रुपये के मुकाबले लगातार होने वाली मजबूती से भी कच्चे तेल की कीमतों को मजबूती मिल रही है। वहीं ईरान पर अमेरिका की तरफ से लगाए जाने वाले प्रतिबंध से भी भारत में तेल में तेजी का रुख रहेगा।

मुंबई में तेल के दाम 100 के स्तर से सिर्फ 13 रुपये पीछे

मुंबई में सोमवार को पेट्रोल के खुदरा दाम 86.56 रुपये हो गए। यानी कि यह कीमत 100 रुपये के स्तर पर पहुंचने से मात्र 13.44 रुपये पीछे है। दिल्ली में पेट्रोल के दाम 79.15 रुपये प्रति लीटर रहे। सोमवार को मुंबई में डीजल के खुदरा दाम 75.19 रुपये प्रति लीटर के स्तर पर पहुंच गए। दिल्ली में यह कीमत 71.15 रुपये प्रति लीटर रही।

4 नवंबर से ईरान पर लग रहा है प्रतिबंध

ईरान पर अमेरिकी प्रतिबंध आगामी 4 नवंबर से मान्य होगा। मतलब इस दिन से ईरान से दूसरे देश सामान नहीं खरीद नहीं पाएंगे। ऐसे में, भारत के लिए कठिनाई हो सकती है क्योंकि ईरान भारत को तेल देने वाला तीसरा सबसे बड़ा देश है। भारत सबसे अधिक इराक एवं उसके बाद सऊदी अरब से तेल का आयात करता है।

ईरान से तेल की खरीदारी प्रभावित होने पर भारत में तेल के दाम में तेजी का रुख रहेगा। तेल क्षेत्र के विशेषज्ञों के मुताबिक ईरान पर प्रतिबंध के तेल के दाम में अंतरराष्ट्रीय बाजार में 2-3 डॉलर प्रति बैरल की बढ़ोतरी हो सकती है।