GDP के मजबूत आंकड़े से 11800 के स्तर को पार कर सकता है निफ्टी

0
27

नई दिल्ली। GDP ग्रोथ 15 तिमाही के उच्चतम स्तर पर पहुंच गई है। कंस्ट्रक्शन, मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर में बढ़ोतरी से GDP ग्रोथ को तगड़ा बूस्ट मिला है। वित्त वर्ष 2018-19 की पहली तिमाही के दौरान जीडीपी ग्रोथ 8.2 फीसदी के स्तर पर पहुंच गई।

ग्रोथ के इन आंकड़ों से तेजी से उभरती हुई इकोनॉमीज में भारत की स्थिति और भी मजबूत हुई है। एक्सपर्ट्स का कहना है कि GDP के मजबूत आंकड़े का शेयर बाजार पॉजिटिव असर होगा। जिससे सोमवार को निफ्टी 11,800 के लेवल को भी पार सकता है।

मैन्युफैक्चरिंग, कंस्ट्रक्शन सेक्टर से मिला दम
जीडीपी ग्रोथ को मैन्युफैक्चरिंग और कंस्ट्रक्शन सेक्टर से बूस्ट मिला है। अप्रैल-जून के दौरान मैन्युफैक्चरिंग की ग्रोथ बढ़कर 13.5 फीसदी के स्तर पर पहुंच गई, जबकि एक साल पहले समान अवधि में इसमें 1.8 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई थी। वहीं कंस्ट्रक्शन सेक्टर में भी अच्छी ग्रोथ दर्ज की गई, जो एक साल पहले की समान अवधि की 1.8 फीसदी से बढ़कर 8.7 फीसदी के स्तर पर पहुंच गई।

11,800 के पार जा सकता है निफ्टी
इंडेक्स जीनियस इन्वेस्टमेंट एडवाइजर्स के डायरेक्टर अमीत हरचेक का कहना है कि जीडीपी के अच्छे आंकड़े से बाजार का सेंटीमेंट्स मजबूत होगा। बाजार तेजी से निफ्टी 11,800 के स्तर को भी पार कर सकता है।

ओवरऑल ग्रोथ रहेगी
मार्केट एक्सपर्ट सचिन सर्वदे ने कहा कि जीडीपी आंकड़े से ओवरऑल ग्रोथ देखने को मिल सकती है। ओवरऑल सेगमेंट में 1 से 2 फीसदी की तेजी आ सकती है। वहीं फॉर्च्यून फिस्कल के डायरेक्टर जगदीश ठक्कर ने कहा, इससे बाजार में चौतरफा खरीददारी दिखेगी। लेकिन रुपए में कमजोरी और क्रूड में उछाल से बाजार में करेक्शन भी दिख सकता है।

इन सेक्टर्स में दिखेगी तेजी
एक्सपर्ट्स के अनुसार, सोमवार के कारोबार में मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर को लीड मिलेगा। फार्मा, आईटी और एफएमसीजी सेक्टर में तेजी आ सकती है। वहीं क्रेडिट ग्रोथ से बैंकिंग सेक्टर को अच्छा सपोर्ट मिल सकता है।