नेशनल टैलेंट सर्च एग्जाम में नहीं होगी निगेटिव मार्किंग

0
65

कोटा। नेशनल टैलेंट सर्च एग्जाम में इस साल निगेटिव मार्किंग नहीं होगी। इस साल परीक्षा में पहला बड़ा बदलाव यह है कि इस साल लैंग्वेज टेस्ट नहीं होगा। अब तक पहला चरण मैट, सेट और एलटी में होता था। इस साल मैट व सेट में ही विभाजित होगा। पेपर उर्दू सहित 13 भाषाओं में होगा।

परीक्षा का समय भी 240 मिनट कर दिया है। पहला चरण दो भागों में होगा। पिछले वर्षों तक मैट में 50 प्रश्न 45 मिनट में करने होते थे। प्रत्येक प्रश्न एक अंक का होता था। इसके स्थान पर 2018-19 में मैट परीक्षा में 100 प्रश्न होंगे। 120 मिनट का समय मिलेगा।

पहले सेट में सौ प्रश्न 100 अंकों के होते थे। 90 मिनट का समय मिलता था। इस वर्ष सेट 90 मिनट के स्थान पर 120 मिनट का होगा। हालांकि 100 अंक के 100 प्रश्न ही आएंगे। एक्सपर्ट देव शर्मा ने बताया कि परीक्षा केंद्र के परिवर्तन के लिए लिखित में एडमिट कार्ड डाउनलोड से 15 दिन पूर्व प्रार्थना पत्र देना होगा।