साल में एक बार ही होगा नीट, पेपर- पेन मोड में होगा एग्जाम

0
71

कोटा । मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने साल में दो बार मेडिकल एंट्रेंस टेस्ट नीट करवाने के निर्णय को अब बदल दिया है। अब नीट साल में एक बार ही होगा। पहले इस एग्जाम में साल में दो बार व ऑनलाइन मोड में करवाने की घोषणा की गई थी। अब 21 अगस्त को जारी आदेश में नीट पेपर पेन मोड में ही आयोजित करने की बात कही है। 

इसके बाद ही नीट व मेन का शिड्यूल भी जारी कर दिया है। दोनों परीक्षा नेशनल टेस्टिंग एजेंसी की ओर से आयोजित की जाएगी। एनटीए ने अन्य परीक्षाओं का शिड्यूल भी जारी कर दिया है। मंत्रालय की ओर से जारी आदेश में कहा गया है कि मिनिस्ट्री ऑफ फैमिली एंड हैल्थ अफेयर की सलाह पर ही नीट में कोई बदलाव नहीं किया गया है।

नीट पिछले साल जितनी भाषाओं में हुआ था, अगले साल भी उतनी ही भाषा में होगा। इसके अलावा मेन साल में दो बार कंप्यूटर बेस्ड ही होगा। यूजीसी नेट व सीमेट व जीपैट का एग्जाम भी कंप्यूटर बेस्ड ही होगा।

कंप्यूटर बेस्ड एग्जाम के लिए बनाए जाएंगे टीपीसी: एनटीए ने कहा कि स्टूडेंट्स को कंप्यूटर बेस्ड एग्जाम के लिए फ्रेंडली बनाने के लिए 2697 टेस्ट प्रैक्टिसिंग सेंटर भी बनाए जाएंगे। एक सितंबर से यह सुविधा शुरू कर दी जाएगी। यह सेंटर स्कूल्स व इंजीनियरिंग कॉलेजों में बनाए जाएंगे। इसके साथ ही इन सेंटर्स को तलाशने के लिए एक एप भी विकसित किया जाएगा।