30 हजार से अधिक विद्यार्थियों ने एक साथ लगाए ठहाके

0
73
कोटा हैप्पीनेस टीम की अगुवाई में कॉमेडियन राजू श्रीवास्तव ने किया मनोरंजन

कोटा। 72वां स्वतंत्रता दिवस कोटा में बने अनूठे रिकॉर्ड के लिए भी जाना जाएगा। एलन कॅरियर इंस्टीट्यूट द्वारा एलन लैण्डमार्क सिटी परिसर में आयोजित ‘52 सेकंड राष्ट्र के नाम‘ कार्यक्रम में एक ही स्थान पर, एक साथ ठहाके लगाने का रिकॉर्ड भी इस दिन बना। 30 हजार साइंस स्टूडेंट्स, शिक्षक, हॉस्टल संचालक, शहर के जनप्रतिनिधियों व आमजन ने सामूहिक राष्ट्रगान गाकर तिरंगे को सलामी दी।

इसके बाद इस ऐतिहासिक क्षण को यादगार बनाने के लिए यहां कई विश्व कीर्तिमान हासिल किए गए। इसमें 30 हजार विद्यार्थियों द्वारा एक साथ ठहाके लगाना और हैप्पीनेस का संदेश देने का कीर्तिमान भी शामिल है। कोटा हैप्पीनेस टीम और एई के संयुक्त तत्वावधान में सभी विद्यार्थियों ने एक साथ स्माइली का पोस्टर दिखाते हुए हैप्पीनेस का संदेश दिया।

यही नहीं हार्ट शेप बनाकर बताया कि देश का दिल कोटा में धड़कता है। इसके साथ ही कोटा हैप्पीनेस टीम की पहल पर कोटा आए स्टैंडअप कॉमेडी के किंग राजू श्रीवास्तव ने जब मंच संभाला तो सभी विद्यार्थी हंस-हंस कर लोट-पोट हो गए। राजू श्रीवास्तव ने विद्यार्थियों को ठहाके लगाने पर मजबूर कर दिया। यहां एक्स फैक्टर बैंड के गायक शाहनवाज ने फिल्मी गीत भी गाए। इस दौरान एई के संस्थापक अमन माहेश्वरी भी मंच पर मौजूद रहे। वहीं कोटा हैप्पीनेस टीम के सदस्य कार्यक्रम में शामिल रहे।

इसके अलावा यहां ‘स्वच्छ भारत-स्वस्थ भारत‘ का संदेश देते हुए तख्तियां दिखाया जाना, एक स्थान पर देश के सभी राज्यों के विद्यार्थियों की मौजूदगी और एक साथ राष्ट्रगान गाया जाना, एक ही स्थान पर सबसे ज्यादा संख्या में छात्राओं द्वारा राष्ट्रगान गाकर तिरंगे को सलामी देना तथा एक ही स्थान पर एक ही समय में सबसे ज्यादा छाते खोलने का रिकॉर्ड बनाया गया।

कार्यक्रम में एलन कॅरियर इंस्टीट्यूट के निदेशक गोविन्द माहेश्वरी, राजेश माहेश्वरी व बृजेश माहेश्वरी ने अतिथियों का स्वागत किया। कार्यक्रम में कोटा-बूंदी लोकसभा सांसद ओम बिरला, जिला कलक्टर गौरव गोयल, कोटा उत्तर विधायक प्रहलाद गुंजल, कोटा दक्षिण विधायक संदीप शर्मा समेत गणमान्य व आमजन मौजूद रहे। 

उल्लेखनीय है कि गत वर्ष भी एलन कॅरियर इंस्टीट्यूट द्वारा 25 हजार विद्यार्थियों के साथ स्वतंत्रता दिवस का उत्सव मनाया गया था, जिसमें सात कीर्तिमान बनाए गए थे। जिसमें एक ही स्थान पर 25 हजार साइंस स्टूडेंट्स द्वारा एक साथ राष्ट्रगान गाना शामिल था।