जानिए, ऑनलाइन कमाई के तरीके lendennews.com पर

0
136

इंटरनेट की पहुंच बढ़ने के साथ ही यह रोजगार और कमाई का भी बड़ा जरिया बनता जा रहा है। यदि आप भी इंटरनेट का इस्तेमाल करते हैं और आपके लिए यह आमदनी का स्रोत भी बन सकता है। आप अपनी पसंद और योग्यता के मुताबिक काम चुन सकते हैं। हालांकि, इस प्लैटफॉर्म पर कुछ सावधानी बरतने की जरूरत है, क्योंकि कई बार ऑनलाइन कमाई के नाम पर ठगी के मामले भी सामने आते हैं। lendennews.com आपको बता रहा है ऑनलाइन इनकम के कुछ तरीके…

फ्रीलांसिंग : फ्रीलांसिंग कमाई का एक अच्छा तरीका रहा है और ऑनलाइन तो इसकी भरमार है। कई ऐसी वेबसाइट हैं जहां से आप अपनी योग्यता के मुताबिक काम हासिल कर सकते हैं। outfiverr.com, upwork.com, freelancer.com और worknhire.com जैसी वेबसाइट्स से फ्रीलांस जॉब हासिल कर सकते हैं।

वेब डिजाइनिंग: हालांकि सभी कारोबारी तकनीक से भली-भांति परिचित नहीं हैं, लेकिन वक्त की मांग है कि उनकी अपनी वेबसाइट हो। अगर आप वेबसाइट निर्माण के तनकीकी ज्ञान से लबरेज हैं तो इन कारोबारियों के लिए वेबसाइट्स तैयार कर पैसे कमा सकते हैं। कोडिंग और वेब डिजाइनिंग वेबसाइट बनाने के अनिवार्य तत्व हैं। फिर वेबसाइट के मैंटनेंस और निरंतर अपडेट्स की जरूरत होती है। इस वजह से आपको लगातार आमदनी होती रहेगी।

सोशल मीडिया:फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और स्नैपचैट जैसे सोशल नेटवर्किंग प्लैटफॉर्म पर मित्रों और अपरिचितों से मेलजोल तो होती ही है, इससे कमाई भी हो सकती है। कंपनियां और लोकप्रिय ब्रैंड्स सोशल मीडिया के महारथियों को अपने प्रॉडक्ट्स की पॉप्युलैरिटी बढ़ाने के लिए पैसे देते हैं।

अगर आपकी पोस्ट ज्यादा रचनात्मक और आकर्षक होती है जो तुरंत वायरल हो जाए तो आपकी एक ब्रैंड वैल्यु है। ध्यान रहे कि सोशल मीडिया पर प्रासंगिक बने रहने के लिए समय और ऊर्जा की जरूरत होती है। इसलिए आपको निरंतर पोस्ट के जरिए अपने फॉलोअर्स से संपर्क में रहना होगा।

​सर्वे, सर्च और रिव्यू: कई वेबसाइट्स ऑनलाइन सर्वे, सर्च और प्रॉडक्ट्स रिव्यू के लिए ऑफर देती हैं। हालांकि, ये वेबसाइट आपसे बैंकिंग डिटेल्स समेत कुछ जानकारियां मांगती हैं, इसलिए वेबसाइट चुनते समय सावधानी बरतें।

डेटा एंट्री:हालांकि, डेटा एंट्री के क्षेत्र में ऑटोमेशन जोर पकड़ रहा है, फिर भी अभी देश में डेटा एंट्री के बहुत काम हैं। यह सबसे आसान ऑलाइन जॉब है। इसमें किसी खास कौशल की जरूरत नहीं होती है। आपके पास एक कंप्यूटर, इंटरनेट कनेक्शन, फास्ट टाइपिंग स्किल और डीटेल्स पर गौर करने की क्षमता होनी चाहिए। ज्यादातर फ्रीलांसिंग वेबसाइट्स पर ऐसे जॉब की जानकारी दी जाती है। आप यहां रजिस्टर करके प्रति घंटे 300 से 1,500 रुपये प्रति घंटे तक कमा सकते हैं।

वर्चुअल असिस्टेंटशिप (VA):घर बैठकर कॉर्पोरेट काम करना वर्चुअल असिस्टेंटशिप कहलाता है। VA वास्तव में अपने क्लाइंट के लिए घर बैठकर उनके बिजनस का कुछ काम निपटाते हैं। वर्चुअल असिस्टेंट के तौर पर आप एक एंप्लॉयी की तरह कम कर सकते हैं या अपना बिजनस सेटअप भी कर सकते हैं। VA अक्सर, फोन कॉल्स, ईमेल, इंटरनेट सर्च, डेटा एंटी, अपॉइंटमेंट शेड्यूलिंग, एडिटिंग, राइटिंग, ब्लॉग मैनेजमेंट, प्रूफरीडिंग, प्रॉजेक्ट मैनेजमेंट, ग्राफिक डिजाइन आदि की जिम्मेदारी संभालते हैं। एक VA 500 रुपये प्रति घंटे से लेकर 4 हजार रुपये प्रति घंटे तक की कमाई करते हैं।

अपनी वेबसाइट:ऑनलाइन इनकम के लिए आप खुद की वेबसाइट भी बना सकते हैं। इसके लिए सबसे पहले डोमेन बुक करके वेबसाइट डिजाइन कराना होगा। कुछ वेबसाइट्स के जरिए आप खुद भी यह कर सकते हैं। संबंधित कॉन्टेंट पोस्ट करने के बाद आप गूगल ऐडसेन्स हासिल कर सकते हैं। इसके बाद आपकी वेबसाइट पर विज्ञापन दिखेंगे और इनपर यूजर के क्लिक करने से आपकी जेब भरेगी। ट्रैफिक जितना अधिक होगा, आपकी आमदनी भी उतनी अधिक होगी।

मार्केटिंग भी है जरिया:एक बार वेबसाइट तैयार जो जाने के बाद आप मार्केटिंग के जरिए भी आमदनी हासिल कर सकते हैं। आपको कंपनियों से संपर्क करना होगा और उन्हें अपने वेबसाइट पर वेब लिंक्स लगाने की इजाजत देनी होगी। जब आपकी साइट के यूजर इन लिंक्स पर क्लिक करके प्रॉडक्ट या सर्विस खरीदेंगे तो आपकी भी कमाई होगी।

ऑनलाइन दुकान: आप सोशल मीडिया के जरिए या वेबसाइट बनाकर अपने प्रॉडक्ट्स ऑनलाइन बेच सकते हैं। आप चाहें तो ऐमजॉन, फ्लिपकार्ट जैसे ऑनलाइन प्लैटफॉर्म का भी सहारा ले सकते हैं।

ऑनलाइन दुकान:ऑनलाइन प्लैटफॉर्म्स से कॉन्टेंट राइटिंग की अच्छी शुरुआत हो सकती है। आर्टिकल की क्वॉलिटी के मुताबिक अच्छी रकम मिल सकती है। आपको कुछ खास दिशा-निर्देशों के तहत आर्टिकल्स लिखने पड़ सकते हैं। आप खुद को जिस क्षेत्र में माहिर पाते हैं, उस क्षेत्र में मेहनत करेंगे तो अच्छी कमाई हो सकती है।

यूट्यूब: अगर कुछ लिखने में आपका हाथ तंग है तो विडियो के जरिए अपनी बात कहें। अपना यूट्यूब चैनल बनाएं, वहां विडियो अपलोड करें और इन्हें मॉनेटाइज करें। आप किसी कैटिगरी के तहत अलग-अलग टॉपिक पर विडियोज बना सकते हैं। खाना बनाने से लेकर राजनीतिक बहस तक, जिस किसी विडियो में भी दम होगा, वह पैसा देगा।

ट्यूटर: यदि आप किसी सब्जेक्ट में एक्सपर्ट हैं तो ऑनलाइन ट्यूशन देकर भी कमाई कर सकते हैं। vedantu.com, MyPrivateTutor.com, BharatTutors.com, tutorindia.net जैसी वेबसाइट पर आप अपनी प्रोफाइल क्रिएट कर सकते हैं और क्लास-सब्जेक्ट लिस्ट कर सकते हैं। शुरुआत में आप यहां 200 रुपये प्रति घंटे तक कमाई कर सकते हैं जो कि अनुभवी होने पर 500 रुपये तक हो सकता है।

ब्लॉगिंग:ब्लॉगिंग की शुरुआत पहले-पहल हॉबी, इंट्रेस्ट और पैशन के तौर पर होती है और कई ब्लॉगर्स के लिए देखते-ही-देखते यह करियर ऑप्शन में तब्दील हो जाती है। ब्लॉग लेखन की शुरुआत दो तरीकों से हो सकती है- आप वर्डप्रेस या टंबलर के जरिए ब्लॉग बना सकते हैं जिस पर कुछ खर्च नहीं होता या फिर सेल्फ होस्टेड ब्लॉग बना सकते हैं जिसके लिए डॉमेन खरीदना पड़ता है और समय-समय पर इसे रीन्यू करवाने पर खर्च करना पड़ता है। आप अपने ब्लॉग पर विज्ञापन, उत्पादों की समीक्षा (प्रॉडक्ट्स रिव्यूज) आदि लगाकर पैसे कमा सकते हैं। लेकिन, इसमें भी वक्त लगता है। कई बार लोग सालभर की मेहनत के बाद पैसे कमाने की स्थिति में आ पाते हैं।

पीटीसी साइट: कुछ वेबसाइट्स विज्ञापनों पर क्लिक करने के बदले पैसे देते हैं। इसलिए इन्हें पेड-टु-क्लिक यानी पीटीसी साइट्स कहा जाता है। आप चाहें तो इन वेबसाइट्स पर रजिस्टर करके पैसे कमा सकते हैं। चूंकि बहुत से फर्जी वेबसाइट्स भी बन गए हैं, इसलिए सावधान रहें। जेनुइन वेबसाइट्स दूसरों को रेफर करने के अलग से पैसे देते हैं। कुछ जेनुइन वेबसाइट्स में ClixSense.com , BuxP और NeoBux आदि शामिल हैं।

ट्रांसलेशन:इंग्लिश के साथ एक अन्य भाषा पर आपकी अच्छी पकड़ है तो आप ट्रांसलेशन के जरिए पैसे कमा सकते हैं। इंग्लिश के साथ हिंदी, स्पैनिश, फ्रेंच, अरब, जर्मन आदि भाषाओं के जानकारों की अच्छी डिमांड है। ट्रांसलेशन का काम आपको दुनियाभर से मिल सकता है। एक ट्रांसलेटर के रूप में आप फुल टाइम या एक्स्ट्रा टाइम वर्क ले सकते हैं। आमतौर पर ट्रांसलेशन के लिए 1 से 5 रुपये प्रति शब्द मिलते हैं। कई भाषाओं के लिए दर 10 रुपये प्रति शब्द भी है।

किंडल ईबुक:अगर किताबें लिखने का शौक है तो आपके पास किंडल डायरेक्ट पब्लिशिंग के जरिए स्वयं-प्रकाशित ईबुक्स और पेपरबैक्स के विकल्प हैं। आप इनके जरिए ऐमजॉन के लाखों पाठकों तक पहुंच सकते हैं। किताब पब्लिश करने में पांच मिनट लगते हैं और 24 से 48 घंटे में यह दुनियाभर के किंडल स्टोर में पहुंच जाती है। आपको 70 प्रतिशत
तक रॉयल्टी मिल सकती है। यहां आपने अधिकारों को नियंत्रित कर सकते हैं और किताब की कीमत निर्धारत कर सकते हैं और किताबें बदल भी सकते हैं। BooksFundr और Pblishing.com पर भी अपनी किताबें प्रकाशित करवाकर पैसे कमा सकते हैं।

पीअर टु पीअर:ऐमजॉन और ओएलएक्स आदि ई-कॉमर्स वेबसाइट्स जैसे ही पीअर-टु-पीअर (पी2पी) प्लैटफॉर्म का इस्तेमाल कर्ज देने के लिए होता है। आप पी2पी प्लैटफॉर्म के पास कर्जवसूली की तरीके होते हैं। हालांकि, इसका इस्तेमाल करने से पहले इसे अच्छी तरह समझना जरूरी है। चूंकि आप आमने-सामने मिले किसी को कर्ज देते हैं, इसलिए आपको कर्ज देने के जोखिमों को समझना चाहिए। अभी ऑनलाइन कर्ज देने (पी2पी लेंडिंग) पर 13% से 30% तक ब्याज मिलता है।