टोरेंट बेचेगी कोटा, जयपुर और अलवर में पाइप लाइन से घरेलू गैस

0
48

जयपुर। चंद महीने पहले बनी गुजरात की टोरेंट गैस लिमिटेड कंपनी ने इंडेन, बीपीसीएल, एचपीसीएल, अडानी सहित तमाम बड़ी कंपनियों को पीछे छोड़ते हुए जयपुर और अलवर में पाइप लाइन के जरिए घरेलू गैस की सप्लाई का जिम्मा ले लिया है, जबकि प्रदेश के चार शहरों में पाइप लाइन बिछाने और गैस आपूर्ति करने का काम अडानी गैस लिमिटेड को मिला है। खास यह है कि राज्य सरकार की कंपनी राजस्थान स्टेट गैस लिमिटेड से टेंडर प्रक्रिया से बाहर हो गई।

पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस विनियामक बोर्ड (पीएनजीआरबी) की ओर से प्रदेश के 12 शहरों के लिए कंपनियों के नाम तय कर दिए गए है। इन शहरों में 2020 तक पाइप लाइन के जरिए गैस आपूर्ति शुरू करनी है।

जयपुर-अलवर में टोरेंट गैस प्राइवेट लिमिटेड ने आन लाइन टेंडर में दोनों शहरों में 13.20 लाख गैस कनेक्शन देने का दावा किया था, जबकि दूसरी कंपनियों ने चार से छह लाख गैस कनेक्शन देने का दावा टेंडर में किया। नियमों के अनुसार टोरेंट के नाम को पीएनजीआरबी ने फाइनल कर दिया।

जानें किस कंपनी को कहां मिला काम
-टोरेंट कंपनी को जयपुर, अलवर के अलावा कोटा के कुछ भाग, बारां, और चित्तौडगढ के रावतभाटा इलाके में पाइप लाइन बिछाने और गैस आपूर्ति करने का काम मिला है।
-एसेल गैस कंपनी को धौलपुर जिले का काम मिला है।
-अडानी गैस को भीलवाड़ा, बूंदी, चित्तौडगढ़ में रावतभाटा को छोड़कर और उदयपुर जिले का कार्य मिला है।
-एजी एंड एलएनजी मार्केटिंग प्राइवेट लिमिटेड बाड़मेर, जैसलमेर और जोधपुर जिले में को कार्य दिया गया है।

-2020 में अप्रैल तक इन शहरों में कनेक्शन पहुंचाने का लक्ष्य मिला है।
-12 शहरों के लिए कंपनियों के नाम तय किए गए
-750 रुपए प्रति कनेक्शन जुर्माना लगेगा तय तिथि तक कनेक्शन नहीं पहुंचा तो

समय से काम पूरा न करने पर लगेगा फाइन
जिन कंपनियों को पाइप लाइन बिछाने और घरेलू गैस आपूर्ति का जिम्मा मिला है। उनकी ओर से तय समय पर पाइप लाइन से गैस कनेक्शन उपलब्ध न कराने पर 750 रुपये प्रति कनेक्शन जुर्माना किया जाएगा।

गुजरात की कंपनी है टोरेंट : टोरेंट गैस लिमिटेड गुजरात के अहमदाबाद की कंपनी है। दो माह पहले ही यह कंपनी एक लाख रुपये की जमा पूंजी के साथ खड़ी की गई। हालांकि टोरंट के मल्टी ब्रांड में अन्य क्षेत्रों में कई कार्य है, लेकिन गैस आपूर्ती के क्षेत्र में नई है।

इस कंपनी में तीन निदेशक निदेशक सुधीर शांतिलाल शाह और दीपक नरोत्तमदास दलाल की 28 मई 2018 को और जेएस मेहता की 27 जून 2018 को हुई है। हालांकि यह कंपनी दूसरे क्षेत्र में भी पहले से कार्य कर रही है, लेकिन गैस के क्षेत्र में अनुभव नहीं है।