आईआईटी व एनआईटी सिस्टम में रिकॉर्ड 99% एडमिशन

0
47

कोटा। इस साल आईआईटी व एनआईटी सिस्टम में रिकॉर्ड एडमिशन हुए हैं। हर साल 95 प्रतिशत के करीब एडमिशन होते हैं। इस बार सीएसएबी की काउंसलिंग पूरी होने से पहले ही 99 प्रतिशत एडमिशन हो चुके हैं। लड़कियों को सुपरन्यूमरेरी सीटों पर एडमिशन देने के साथ ही काउंसलिंग में किए गए बदलाव के कारण यह संभव हो गया है।

यह बात जोसा काउंसलिंग के को-चेयर व सीएसएबी काउंसलिंग के चेयरमैन प्रो. यूआर यारागट्टी ने कही। वे सोमवार को कोटा यूनिवर्सिटी में आयोजित सेमिनार में भाग लेने के लिए आए थे।  एमएनआईटी जयपुर के डायरेक्टर प्रो. यारागट्टी ने कहा कि इस साल आईआईटी में अधिक स्टूडेंट्स को एडमिशन का मौका दिया गया है।

अगर कोई छात्र रुचि नहीं होने के कारण ब्रांच छोड़ता है तो दूसरे को अवसर दिया गया है। सीएसएबी काउंसलिंग में इस साल एक की जगह दो स्पेशल राउंड करवाए गए हैं। सोमवार दोपहर एक बजे तक एनआईटी की 18702 अलॉटेड सीटों पर 18320 व अन्य संस्थानों की 4187 की जगह 3780 स्टूडेंट्स ने रिपोर्ट किया है।

पिछले साल सीएसएबी के लिए 17 हजार स्टूडेंट्स ने री रजिस्ट्रेशन करवाया था। इस साल यह संख्या बढ़कर 20 हजार तक पहुंच गई है। साल में दो बार नीट व मेन के आयोजन को उन्होंने अच्छा फैसला बताते हुए कहा कि अगर कोई छात्र साल में एक मौका चूक जाएगा तो उसको उसी साल दूसरा मौका भी मिलेगा। हालांकि अभी तक काउंसलिंग के संबंंध में काेई गाइडलाइन तय नहीं हुई है।

कोटा में ट्रिपलआईटी शिफ्टिंग के लिए मंजूरी का इंतजार
कोटा में ट्रिपलआईटी को शिफ्ट करने के संबंध में उन्होंने कहा कि सरकार की स्वीकृति का इंतजार है। वहां से हरी झंडी मिलते हैं, कोटा में ट्रिपलआईटी शिफ्ट कर दी जाएगी। इसके लिए आरटीयू में जगह चिह्नित है। उन्होंने कहा कि पहले ट्रिपलआईटी के फर्स्ट ईयर के छात्र कोटा में पढ़ेंगे। इसके बाद धीरे धीरे अन्य बैचों की शिफ्टिंग की जाएगी। सेंट्रल व प्राइवेट सेक्टर की ओर से राशि जारी की जा चुकी है।