महिला कोच में लगेंगे पैनिक बटन, कंट्रोल रूम को मिलेगी सूचना

0
82

कोटा। रेलवे महिलाओं की सुरक्षा के लिए कई बड़े बदलाव करने जा रहा है। इसके तहत महिलाओं के लिए आरक्षित कोचों की सुरक्षा व्यवस्था में सुधार किया जाएगा। महिला कोच में सुरक्षा के उद्देश्य से सीसीटीवी कैमरे लगाए जाएंगे। साथ ही कोच में पैनिक बटन भी लगाया जाएगा।

इससे आपात स्थिति में महिला को मदद की जरूरत होने पर ट्रेन के ड्राइवर, गार्ड और सुरक्षा कर्मियों को तुरंत सूचना मिल जाएगी। साथ ही लंबी दूरी की ट्रेनों में महिला स्टाफ को भी रखा जाएगा।  गौरतलब है कि ट्रेनों में महिलाओं से छेड़छाड़ और लूटपाट की कई घटनाएं हो चुकी हैं।

इसको देखते हुए रेलवे ने महिला सुरक्षा के लिए उनके कोचों में सीसीटीवी कैमरे लगाने का फैसला लिया है। उसका सीधा संबंध कंट्रोल रूम, ड्राइवर व गार्ड से होगा। कोच में होने वाली प्रत्येक गतिविधि सीसीटीवी कैमरे में कैद होगी। जरूरत पड़ने पर रिकॉर्डिंग भी देखी जा सकेगी।

पैनिक बटन दबाते ही उसकी सूचना ड्राइवर, गार्ड, सुरक्षा गार्ड व रेलवे स्टेशन के कंट्रोल रूम को मिल जाएगी। ट्रेन में तैनात एस्काॅर्ट दस्ते के सुरक्षा कर्मी तुरंत महिला कोच में पहुंचकर महिला की मदद करेंगे। सबसे पहले इस तरह की व्यवस्था लंबी दूरी की ट्रेनों में होगी। जिसमें ठहराव भी कम होते हैं। साथ ही ट्रेनों की स्पीड अधिक होती है।

महिला कोच का रंग भी अलग
ट्रेन में यात्रा करने वाली महिला व बच्चों की सुरक्षा के लिए रेलवे मंत्रालय सबसे अधिक चिंतित है। कई वारदातें सामने आने के बाद अब रेलवे महिला कोचों का रंग भी अलग करने की तैयारी कर रहा है। ताकि दूर से ही ट्रेन में लगे महिला कोचों का पता लग जाएगा। ट्रेन के महिला कोच में विशेषतौर पर महिला पुलिसकर्मियों को भी तैनात किया जाने की भी योजना है। इसके लिए आरपीएफ में महिला सुरक्षाकर्मियों की संख्या भी बढ़ाने की तैयारी है।