डोमिनोज पर ऐंटी-प्रॉफिटीयरिंग अथॉरिटी का शिकंजा

0
57

नई दिल्ली। पिज्जा चेन डोमिनोज ऐंटी-प्रॉफिटीयरिंग अथॉरिटीज के फंदे में फंस गई है। कंपनी पर जीएसटी की दरों में कमी का फायदा ग्राहकों को नहीं देने का आरोप है। डायरेक्टर जनरल ऑफ ऐंटी-प्रॉफिटीयरिंग को पता चला है कि पिछले साल नवंबर में जीएसटी काउंसिल के रेस्तरां के रेट में कमी करने के बाद कंपनी ने सभी फूड प्रॉडक्ट्स के दाम नहीं घटाए थे और उसने चुनिंदा सामानों पर ही ग्राहकों को इसका फायदा दिया था।

इस मामले से वाकिफ एक सरकारी अधिकारी ने बताया, ‘एक जांच रिपोर्ट जारी की गई है।’ भारत में जुबिलेंट फूडवर्क्स डोमिनोज के रेस्टोरेंट्स ऑपरेट करती है और इसके लिए उसका अमेरिकी चेन डोमिनोज पिज्जा इंक के साथ फ्रेंचाइजी अग्रीमेंट है। इस मामले में डोमिनोज के प्रवक्ता ने बताया कि उनके हिसाब से कंपनी ने सारे फायदे ग्राहकों को दिए थे।

उन्होंने बताया, ‘कंपनी को इनवेस्टिगेशन रिपोर्ट की एक कॉपी मिली है। यह रिपोर्ट डायरेक्टर जनरल ऐंटी-प्रॉफिटीयरिंग ने नैशनल एंटी-प्रॉफिटीयरिंग अथॉरिटी (NAA) को सौंपी थी। हालांकि, कंपनी का मानना है कि उसने जीएसटी रेट्स में कमी का फायदा ग्राहकों को दिया था और वह अपना यह पक्ष एनएए के सामने रखेगी।’ जीएसटी काउंसिल ने 15 नवंबर 2017 को रेस्टोरेंट्स पर जीएसटी रेट 18 पर्सेंट से घटाकर 5 पर्सेंट कर दिया था।

डायरेक्टर जनरल ऑफ एंटी-प्रॉफिटीयरिंग ने जांच में पाया कि डोमिनोज ने सभी ग्राहकों को टैक्स बेनिफिट्स नहीं दिए थे। सरकार ने ऐंटी-प्रॉफिटीयरिंग फ्रेमवर्क इसलिए बनाया था ताकि जीएसटी लागू होने के बाद ग्राहकों को कंपनियों की मुनाफाखोरी से बचाया जा सके।