लहसुन खरीद की मांग करने वाले किसानों को पुलिस ने पीटा

0
93

कोटा। सरकार ने बाजार हस्तक्षेप योजना के तहत 30 जून तक किसानों का लहसुन खरीदा। इसके बाद खरीद बंद कर दी गई। 40 हजार से ज्यादा हाड़ौती के पंजीकृत किसान सरकारी कांटे पर अपना लहसुन नहीं बेच पाए। उनका तैयार किया गया लहसुन प्लास्टिक के बारदाने में सड़ रहा है। हजारों चना उत्पादक किसान भी परेशान है। पंजीयन के बावजूद उनका भी चना नहीं खरीदा गया।

मंगलवार को अखिल भारतीय किसान सभा के बैनर तले लहसुन व चना की वापस खरीद शुरु करवाने की मांग को सरकार तक पहुंचाने के लिए संभागभर के किसान अंटाघर शहीद स्मारक से शांति पूर्वक प्रदर्शन करते हुए कलेक्ट्रेट को घेरने पहुंचे थे। लेकिन पुलिस ने उन्हें बर्बरता पूर्वक कार्रवाई करते हुए पीटा । कलेक्ट्री के गेट से पुलिस ने उन्हें खदेड़ा। इस बीच पुलिस व किसानों में झड़प हुई।

नयापुरा पुलिस थाने के सीआई विजयशंकर शर्मा ने झड़प के दौरान एक किसान की गिरेबां पकड़ी। पूरी ताकत से उसे खींचा इससे वह असंतुलित होकर वहां भरे गंदे पानी में जा गिरा। इधर, अपने कप्तान को देखकर बाकी पुलिसकर्मियों ने पूरी ताकत के साथ किसानों की पीठ पर मुक्के मारे। दोनों के बीच हुई झड़प में पुलिसकर्मियों की नेम प्लेट व बैंच गिर गए। बाद में किसान सभा ने सीएम के नाम एडीएम सिटी बीएल मीणा को खरीद शुरु करवाने की मांग की।

किसान नेताओं ने पुलिस के व्यवहार की कड़ी निंदा की
प्रदर्शन में किसान नेता केएल जैन, नंदकिशोर शर्मा, चतुर्भुज पहाड़िया, हरीश मीणा आदि ने किसानों को संबोधित किया। इन सभी ने पुलिस के व्यवहार की कड़ी निंदा की है। और कहा है कि किसानों की गेट तोड़ने की मंशा नहीं थी। किसान सिर्फ सरकार का विरोध कर रहे थे। चूंकि पंजीकृत किसानों का लहसुन घरों में सड़ रहा है। किसानों को इससे करोड़ों रुपए का नुकसान हो रहा है। लेकिन यह सरकार हठधर्मिता पर उतारू है।

14 किसानों ने की आत्महत्या: किसानों का पुलिस से दमन करवाना चाहती है। लेकिन किसान अब पीछे हटने वाले नहीं हैं। वर्ष 2017 से अब तक हाड़ौती में 14 किसानों ने आत्महत्या की है। इनमें कुछ किसानों की मौत हार्ट अटैक से हुई है। लेकिन सरकार किसानों की पीड़ा सुनने को तैयार नहीं है। खरीद बंद होने से लहसुन 4 से 5 रुपए किलो बिक रहा है। इस मौके पर किसान नेता अब्दुल हमीद गौड़, लक्ष्मीनारायण मीणा, मास्टर फजर मोहम्मद, नगेंद्र नायक, बद्रीलाल सेन आदि मौजूद रहे।

9 अगस्त को 100 किलोमीटर पैदल मार्च करके भरेंगे जेल
बोरदा ने कहा किसान चुप बैठने वाला नहीं है। किसान सभा के नेतृत्व में हाड़ौती के किसान लहसुन व चना खरीद की मांग को लेकर 9 अगस्त को जेल भरो आंदोलन करेंगे। 100 किलोमीटर का पैदल मार्च करते हुए संभाग मुख्यालय पहुंचेंगे और गिरफ्तारियां देंगे। जिसकी गांव-गांव में तैयारियों चल रही हैं।