माता-पिता की सेवा करने वाला ही ‘हीरो नंबर वन’: गोविन्दा

0
109

कोटा। बॉलीवुड स्टार गोविन्दा ने कहा कि मैं बचपन में काफी बीमार रहता था। ना जाने कौन कौनसी बीमारियां थी और डॉक्टर तक खुद मुझसे परेशान रहते थे, लेकिन माता-पिता की दुआओं में एक ताकत थी। जिसकी वजह से मैं आज ‘गोविन्दा’ बन पाया हूं। माता-पिता का आशीर्वाद नहीं होता तो मैं आज आप लोगों के सामने नहीं होता।

बॉलीवुड स्टार गोविन्दा गुरुवार को एलन एंटरप्राइजेज द्वारा शुरू किए गए माय कोटा हैप्पीनेस सिटी कैम्पेन की शुरूआत करने के लिए कोचिंग सिटी कोटा आए थे।  यहां हजारों विद्यार्थियों के बीच इन्द्रविहार स्थित एलन कॅरियर इंस्टीट्यूट के समर्थ कैम्पस के सद्भाव परिसर में आयोजित समारोह में यह शुरूआत की गई

गोविन्दा ने कहा कि आप जिन्दगी में कितनी ही ऊंचाइयों को छू लें, लेकिन अपने माता-पिता की सेवा करना नहीं भूलें। क्योंकि जो व्यक्ति माता-पिता की सेवा करता है, उसका कभी दुख-दर्द से सामना नहीं होता। उसकी जीवन खुशियों से भरा रहता है। आपको जीवन में खुद का हीरो बनना है और जो व्यक्ति अपने माता-पिता की सेवा करता है, वही हीरो नंबर वन है।

इसके बाद इसी कैम्पेन के तहत गोविन्दा लैंडमार्क सिटी स्थित एलन कॅरियर इंस्टीट्यूट के सम्यक कैम्पस के सद्गुण सभागार भी पहुंचे और यहां भी विद्यार्थियों से बातचीत की। उन्होंने माय कोटा सिटी हैप्पीनेस कार्ड का विमोचन किया तथा खुश रहने का फण्डा दिया। टीम हैप्पीनेस की ओर से एलन एंटरप्रिन्योर के कन्वीनर अमन माहेश्वरी ने स्वागत किया।

एलन कॅरियर इंस्टीट्यूट की ओर से निदेशक राजेश माहेश्वरी, नवीन माहेश्वरी व बृजेश माहेश्वरी ने राजस्थानी साफा पहनाकर, दुपट्टा व बुके भेंटकर गोविन्दा का स्वागत किया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि कोटा मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य डॉ. गिरीश वर्मा समेत टीम हैप्पीनेस के सदस्य, शिक्षक व विद्यार्थी मौजूद रहे। कार्यक्रम की शुरुआत से पूर्व रॉक बैण्ड द्वारा फिल्मी गीत प्रस्तुत किए गए।

जो डांस नहीं करता वही असली डांसर
कार्यक्रम के दौरान विद्यार्थियों ने गोविन्दा से डांस की फरमाइश की। इस पर उन्होंने कहा कि अच्छे डांसर का सबसे बड़ा गुण है उसका डांस, जो डांस जैसा नहीं लगता है और बिना कहे बहुत सी बातें कहता हो, वही असली डांसर है। गोविन्दा ने ‘किसी डिस्को में जाएं, किसी हॉटल में खाएं’ पर कुछ स्टेप्स भी किए। इस दौरान विद्यार्थी भी खुद को झूमने से रोक नहीं पाए। गोविन्दा के साथ अमन माहेश्वरी व टीम हैप्पीनेस भी झूमी। ‘लाल दुपट्टे वाली तेरा नाम तो बता’ गाना खुद गाकर डांस भी किया।

हैप्पीनेस कार्ड लॉन्चिंग की
एलन एंटरप्रिन्योर द्वारा शुरू किए गए ‘माय कोटा हैप्पीनेस सिटी‘ पहल देशभर से कोटा आने वाले विद्यार्थियों के चेहरे पर खुशी लाने की कोशिश है। कोटा को खुशहाल बनाने का प्रयास है। बॉलीवुड स्टार गोविन्दा, एलन एन्टरप्रेन्योर्स के फाउंडर अमन माहेश्वरी समेत अन्य सदस्यों ने हैप्पीनेस कार्ड की लॉन्चिंग की।

अमन माहेश्वरी ने बताया कि हैप्पीनेस सिटी इनिशिएटिव के तहत शहर में ऐसे कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे जिससे शहर का वातावरण शैक्षणिक होने के साथ-साथ खुशनुमा भी हो। गोविन्दा ने विद्यार्थियों को खुश रहने का मंत्र बताते हुए कहा कि यह समझना बहुत जरुरी है कि जिंदगी में हंसी और खुशी को कैसे जाहिर करें।

गुरू को समझें और सीखें
गोविन्दा ने विद्यार्थियों को संदेश देते हुए कहा कि माता-पिता के बाद यदि आपके जीवन में कोई उजियारा लाता है तो वो शिक्षक हैं। आप पूरे देश से कोटा आकर पढ़ रहे हैं और यहां आपके असली हीरो आपके टीचर्स हैं। इन टीचर्स का सम्मान करें, इन्हें देखें, इनसे सीखने की कोशिश करें। गुरू का आदर करके ही हम आगे बढ़ सकते हैं। यदि माता-पिता एवं गुरूजनों का आदर करोगे तो सभी कार्य हमेशा अच्छे होंगे।