इंटेली ब्रेन के कन्वोकेशन में झूमे विद्यार्थी

0
52

कोटा। बाल्यकाल में मस्तिष्क विकास के उद्देश्य से एलन कॅरियर इंस्टीट्यूट के प्री नर्चर एण्ड कॅरियर फाउण्डेशन (पीएनसीएफ) विभाग की ओर सेे संचालित इंटेली ब्रेन प्रोग्राम की कल्चरल एण्ड कन्वोकेशन इवनिंग एलन कॅरियर इंस्टीट्यूट के इन्द्रा विहार स्थित समर्थ सद्‍भाव परिसर में आयोजित की गई।

इस अवसर पर इंटेली ब्रेन प्रोग्राम के तहत वर्षभर आयोजित की गई गतिविधियों के बाद श्रेष्ठ विद्यार्थियों को प्रमाण पत्र देकर पुरस्कृत किया गया। जैसे ही उन्हें प्रमाण प्रत्र मिले, विद्यार्थी खुशी से झूम उठे। इस दौरान अभिभावक भी मौजूद रहे। कार्यक्रम के दौरान विद्यार्थियों ने आकर्षक सांस्कृतिक प्रस्तुतियां भी दी।

कार्यक्रम की शुरूआत दीप प्रज्जवलन के साथ हुई। मुख्य अतिथि पीएनसीएफ विभाग के प्रभारी अमित गुप्ता ने एलन इंस्टीट्यूट के पीएनसीएफ विभाग की ओर से इंटेलीब्रेन कार्यक्रम को संचालित करने का उद्देश्य बताया। उन्होने कहा कि विद्यार्थियों के बाल्यकाल में मस्तिष्क के विकास के बारे में समझना जरूरी है।

किस तरह ब्रेन का विकास 6 से 11 वर्ष तक की उम्र में 90 प्रतिशत तक हो जाता है। इंटेली ब्रेन के तहत यही प्रयास किया जाता है। अभिभावक भी इस कड़ी का हिस्सा रहते हैं, जिससे बच्चे की पेरेंटिंग कैसे हो, अभिभावक कैसे बेहतर पालन-पोषण दे सकते हैं यह समझाया जाता है।

इसके अलावा बच्चों के मस्तिष्क के विकास को समझते हुए यदि आगे बढ़ा जाए तो हम बालक-बालिकाओं की क्षमता में बढ़ोतरी कर सकते हैं और उनके भविष्य को बेहतर बना सकते हैं। इस मौके पर एलन कॅरियर इंस्टीट्यूट के वाइस प्रेसिडेंट सीआर चौधरी भी मौजूद रहे।

इंटेली ब्रेन प्रोग्राम के तहत मस्तिष्क के विकास के लिए 6 से 8 वर्ष के स्टूडेंट्स को इंटेली सीड्स, 8 से 10 वर्ष के स्टूडेंट्स को इंटेली बड्स तथा 10 से 11 वर्ष तक के स्टूडेंट्स को इंटेली ब्लोसम्स श्रेणी में रखते हुए अलग-अलग गतिविधियां आयोजित की जाती है।

कार्यक्रम में इंटेली ब्रेन में शामिल हुए विद्यार्थियों ने नृत्य, गायन और समूह नृत्यों की आकर्षक प्रस्तुतियां दी। कुछ विद्यार्थियों ने वाद्य यंत्र बजाए तो कुछ ने नाटक और प्रेरक कहानी सुनाई। कार्यक्रम के अंत में सीड्स, बड्स और ब्लोसम तीन वर्गों में विद्यार्थियों को उपाधियां वितरित की गई।