अरबपतियों के मामले में भारत तीसरा बड़ा देश, अमेरिका टॉप पर

0
48

नई दिल्ली । दुनिया में भारत तीसरा सबसे ज्यादा अरबपतियों वाला देश है। वहीं अगले दशक में इस एलीट क्लब में करीब 238 अल्ट्रा हाई नेट वर्थ इंडिविज्युअल्स जुड़ने की संभावना है। यह बात अफ्रएशिया बैंक ग्लोबल वेल्थ माइग्रेशन रिव्यू की रिपोर्ट में सामने आई है।

इस रिपोर्ट के मुताबिक भारत में कुल 119 अरबपति हैं और वर्ष 2027 तक यह संख्या 357 तक बढ़ने की उम्मीद है। अगले 10 वर्षों में जहां एक ओर भारत में 238 अतिरिक्त अरबपति जुड़ने वाले हैं वहीं, इसके पड़ोसी देश चीन में 448 ऐसे अरबपति जुड़ने की बात कही गई है।  वर्ष 2027 तक अमेरिका में सबसे ज्यादा संख्या में अरबपति होने की संभावना है। यह संख्या 884 तक पहुंच सकती है।

इसके बाद दूसरे स्थान पर चीन में 697 और तीसरे पर भारत 357 के साथ हो सकता है। अरबपति या बिलिनेयर उन व्यक्तियों को कहा जाता है जिनकी नेट एसेट एक अरब या इससे ज्यादा होती है। अन्य देश जहां पर अगले दशक तक अरबपति लोगों की संख्या में महत्वपूर्ण इजाफा हो सकता है उनमें रुस फेडरेशन (142), यूनाइटेड किंगडम (113), जर्मनी (90) और हॉन्ग कॉन्ग (78) शामिल हैं।

मौजूदा समय में दुनियाभर में करीब 2252 अरबपति हैं और वर्ष 2027 तक यह संख्या 3444 तक बढ़ने की उम्मीद है। टोटल वेल्थ के आधार पर हर देश में रहने वाले लोगों की निजी संपत्ति के मामले में भारत दुनिया का तीसरा सबसे अमीर देश है जिसकी कुल संपत्ति 8230 बिलियन डॉलर है।

भारत दुनिया का छठा सबसे धनी देश
8,230 अरब डॉलर की संपत्ति के साथ भारत दुनिया का छठा अमीर देश है, जबकि वैश्विक स्तर पर अमेरिका को सबसे अमीर देश का रुतबा हासिल हुआ है। यह जानकारी अफ्रएशिया बैंक ग्लोबल वैल्थ माइग्रेशन रिव्यू के जरिए सामने आई है। इसमें किसी देश के हर व्यक्ति की कुल निजी संपत्ति को आधार माना गया है। इसमें उनकी सभी संपत्तियों (संपत्ति, नकद, इक्विटी, व्यवसायिक हित) को शामिल किया गया हैं।