NEET 2017: किसी की कान की बाली उतरवाई तो , किसी के जूते, धूप में नंगे पांव चले

0
89

 जयपुर। सीबीएसई की ओर से रविवार को राष्ट्रीय पात्रता एवं प्रवेश परीक्षा (नीट यूजी) 2017 जयपुर , कोटा और अजमेर समेत देश के 103 शहरों में कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच आयोजित की गई। । इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस से नकल की रोकथाम के लिए परीक्षा केंद्रों पर व्यापक सुरक्षा इंतजाम किए गए। 

 ब्लू ट्रुथ से नकल की आशंका को देखते हुए परीक्षा केंद्रों के बाहर छात्राओं की चुन्नियां उतरवाई गईं। कानों में पहनी बालियां व नाक की लौंग के साथ ही उनके गले में पड़े मन्नत के धागे व नेकलेस आदि भी उतरवाए लिए गए। 

परीक्षा केंद्रों के बाहर विद्यार्थियों के साथ ही उनके अभिभावकों का भी जमावड़ा था। अजमेर के माकड़वाली रोड स्थित एक परीक्षा केंद्र पर परीक्षा देने पहुंचे विद्यार्थियों विशेषकर छात्राओं की चुन्नी उतरवा ली गईं। बालों में लगे हेयर पिन, नौज पिन और नेकलेस उतरवा गए।

कानों की बालियां व लौंग उतारने की मशक्कत मां-बाप दोनों ही करते नजर आए। जो छात्राएं व छात्र कलाइयों में मन्नत के धागे बांधे, पहुंचे वे सेंटर पर मौजूद स्टाफ ने कैंची से काट डाले। एक महिला कार्मिक चाकू से इन धागों को काटते नजर आई।

धूप में नंगे पांव

 बड़ी संख्या में छात्र जूते पहन कर केंद्र पर पहुंचे। केंद्र पर मौजूद स्टाफ ने ऐसे सभी छात्रों के जूते उतरवा लिए। मोजे भी नहीं पहनने दिया गया। केंद्र के मुख्य द्वार से परीक्षा हाल तक लंबी दूरी छात्रों को नंगे पांव ही तपती धूत में चलना पड़ा।

मैटल डिटेक्टर से हुई जांच

केंद्रों पर विद्यार्थियों की जांच के लिए हैंड मेटल डिटेक्टरों की व्यवस्था की गई थी। प्रत्येक विद्यार्थी की जांच इन मेटल डिटेक्टर से की गई। छात्राओं की जांच के लिए महिला कार्मिकों की व्यवस्था की गई।