सांगोद व सुल्तानपुर में लहसुन की सरकारी खरीद कल से

0
50

कोटा। कलेक्टर गौरव गोयल ने सोमवार को काश्तकारों की उपज को क्रय करने, उनकी फसल का उचित मूल्य समय पर मिले, स्टोरेज आदि व्यवस्थाओं को लेकर कृषि विभाग, तिलम संघ, राजफैड, कॉ ऑपरेटिव, एफसीआई, सेन्टर वेयरहाउस आदि उपक्रमों की बैठक लेकर कहा कि किसानों को किसी तरह की परेशानी नहीं आनी चाहिए। उनकी फसल का उचित व समय पर मूल्य मिलना चाहिए।

कलेक्टर ने कहा कि सरकार की मंशा है किसानों को अधिक से अधिक लाभ मिले। इसके लिए हरसंभव प्रयास किए जाएंगे। उन्होंने कहा कि संबंधित अधिकारी सकारात्मक सोच रखें तथा सभी आवश्यक तैयारी के साथ काम करें। ताकि किसानों को किसी प्रकार की परेशानी का सामना नहीं करना पड़े।

कलेक्टर ने बताया कि सांगोद एवं सुल्तानपुर में 9 मई से लहसुन क्रय केंद्र शुरू किये जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि किसानों को लहसुन विक्रय के लिए आज से ही ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया प्रारंभ कर दी गई है।  खरीद केन्द्रों की व्यवस्था के लिए को ऑपरेटिव बैंक के एमडी बीएल गिल को नोडल अधिकारी बनाया गया है। नोडल अधिकारी खरीद केंद्रों की प्रतिदिन मॉनिटरिंग व्यवस्था देखेंगे तथा जिला कलेक्टर को रिपोर्ट करेंगे।

लहसुन छंटनी कर लाना आवश्यक:दी कोटा को-ऑपरेटिव मार्केटिंग सोसायटी लिमिटेड के महाप्रबंधक बीना बैरवा ने किसानों से अपील की है कि किसी असुविधा एवं लहसुन की ट्रॉली रिजेक्ट होने से बचने के लिए 25 एमएम व्यास से ऊपर की साइज का लहसुन, इसकी गांठें, एक समान सफेद रंग की तथा सख्त एवं सूखी हो बिक्री के लिए लाया जाए।