स्मोक फ्री योजना : प्रेम नगर में बांटे मुफ्त एलपीजी कनेक्शन

0
32

कोटा । प्रधानमंत्री ग्राम उज्जवला योजना के तहत कोटा जिले की 27 पंचायतों के 2700 चयनित लाभार्थी उपभोक्ताओं को LPG घरेलू गैस मुफ्त उपलब्ध कराने के लक्ष्य के तहत शुक्रवार को प्रेम नगर तृतीय में शिविर लगा कर 10 से अधिक मुफ्त गैस वितरित किय गए। स्मोक फ्री योजना में इस मौके पर 350 से अधिक महिलाओं ने अपने आवेदन पत्र दस्तावेजों के साथ प्रस्तुत किए।

हाड़ौती एलपीजी डीलर्स एसोसिएशन तथा पेट्रोलियम कंपनीज के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित शिविर में मुख्य अतिथि  विधायक भवानी सिंह राजावत ने कहा कि प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने धुंए के बीच घरों में खाना पकाती महिलाओं की पीड़ा को समझा। देश में 8 करोड़ लोगों को गैस कनेक्शन फ्री में उपलब्ध कराने का लक्ष्य रखा है।

अभी तक 3 करोड़ कनेक्शन दिए जाए चुके हैं। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने देश में 70 साल राज किया, लेकिन एक सिगड़ी तक महिलाओं का नहीं दी। मोदी ने लोगों के बैंक खाते खुलवा कर उन्हें लाभांवित किया है। कार्यक्रम में उप महापौर सुनीता व्यास ने भी विचार व्यक्त किए और गैस कनेक्शन बांटे।

इस अवसर पर हाड़ौती एलपीजी डिस्ट्रीब्यूर्स एसोसिएशन के सचिव अरविंद गुप्ता ने बताया कि सरकार ने हर घर को धुंआ मुक्त करने करने का लक्ष्य निर्धारित किया है । सभी पात्रों के आवेदन लिए गए है। उनके दास्तावेजों की जांच कर काई कमी है तो उसे पूरा कराया जाएगा।

शिविर में किसी कारण से वंचित रहे लोगों को गैस चाहिए वे उनके कार्यालय शांपिंग सेंटर में आ सकते है। कार्यक्रम में बदलाव करते हुए केंद्रीय वित राज्य मंत्री शिव प्रसद शुक्ला एवं सांसद ओम बिरला के आने की सूचना दी गई लेकिन शाम को मंत्री अपरिहार्य कारणों से नहीं पहुंच सके।

संचालन पार्षद कृष्ण मुरारी समारिया ने किया। पार्षद मधु कंवर हाड़ा,पूर्व पार्षद संतोष अग्रवाल, भाजपा पदाधिकरी राकेश मिश्रा,जगदीश जिंदल, अशोक मीणा आदि भाजपा कार्यकर्ताओं ने शिविर में उपभोक्ताओं की मदद की।

पैट्रोलियम गैस कंपनीज के प्रतिनधि ने बताया कि 14 से 20 अप्रेल तक तक चल रहे विशेष पखवाड़े में 27 एलपीजी पंचायतों के गांवों में ऑनलाइन प्रक्रिया के तहत हर पंचायत के 100 उपभोक्ताओं को प्रमाणित दस्तावेजों के आधार पर फ्री कनेक्शन दिया जा रहा है। इन उपभोक्तओं में प्रथम चरण में बीपीएल, अनुसूचित जाति, जन जाति, राशन कार्ड धारक, अंत्योदय परिवारों को शिविर में प्राथमिकता दी जाएगी।