उम्मेदगंज कृषि अनुसंधान केंद्र पर जुलाई से शुरू होगा एग्रीकल्चर काॅलेज

0
30

कोटा। हाड़ौती के युवाओं को खेती किसानी की पढ़ाई के लिए दूर-दराज नहीं जाना पड़ेगा। वह कोटा में कृषि संकाय की पढ़ाई कर सकेंगे। पढ़ाई के साथ आवास की सुविधा भी रहेगी। सीएम बजट घोषणा के तहत इसी जुलाई महीने में एग्रीकल्चर यूनिवर्सिटी कैथून रोड स्थित उम्मेदगंज कृषि अनुसंधान केंद्र पर एग्रीकल्चर कॉलेज स्थापित कर सत्र शुरू कर देगी।

इसके लिए कृषि विभाग की डिमांड पर एग्रीकल्चर यूनिवर्सिटी ने कॉलेज स्ट्रक्चर व स्टाफ समेत अन्य सुविधाओं के लिए 20 करोड़ रुपए का बजट प्रस्ताव बनाकर भेज दिया है। कुलपति प्रो. जीएल केशवा ने बताया कि कृषि विभाग से कॉलेज के लिए मांगे गए बजट के जल्द मिलने की उम्मीद है।

यूनिवर्सिटी ने 20 करोड़ रुपए का बजट प्रस्ताव बनाकर कृषि विभाग को भेजा, पढ़ाई के साथ मिलेगी आवास की सुविधा बिल्डिंग में मांगी ये सुविधाएं :4क्लास रूम, 1 लाइब्रेरी, 1 एडमिनिस्ट्रेटिव बिल्डिंग, खेलकूद की सुविधा, 1 परीक्षा हॉल, फार्मर ऑफिस एंड लैब, 2 बॉयज 1 गर्ल्स हॉस्टल, 8 स्टाफ रूम समेत अन्य सुविधाएं मांगी गई हैं।

30 फीसदी गर्ल्स को मिलेगा दाखिला
कुलपति ने बताया कि हाड़ौती में यह पहला एग्रीकल्चर कॉलेज होगा। 60 सीटों के साथ इसकी शुरुआत होगी। 30 फीसदी गर्ल्स को दाखिला मिलेगा। फिलहाल कॉलेज शुरू करने के लिए यूनिवर्सिटी के पास उम्मेदगंज कृषि अनुसंधान केंद्र पर बिल्डिंग है।

साथ ही कृषि वैज्ञानिकों का सब्जेक्ट के मुताबिक स्टाफ मौजूद है। जुलाई माह में जेट के एग्जाम के बाद प्रवेश शुरू कर दिया जाएगा और शिक्षण कार्य शुरू हो जाएगा। इसमें किसी प्रकार की स्टूडेंट्स को दिक्कत नहीं आएगी। स्टूडेंट्स को एग्रीकल्चर के 12 सब्जेक्ट पढ़ने को मिलेंगे। स्टूडेंट्स को एग्रीकल्चर बीएससी ऑनर्स की चार साल की डिग्री मिलेगी।

46 का स्टाफ मांगा
टीचिंग स्टाफ में यूनिवर्सिटी ने सरकार से 1 डीन, 3 एसोसिएट प्रोफेसर, 10 असिस्टेंट प्रोफेसर 1 लाइब्रेरियन, नॉन टीचिंग व टेक्निकल स्टाफ में 1 असिस्टेंट रजिस्ट्रार, 3 टेक्निकल असिस्टेंट, 1 असिस्टेंट अकाउंटेंट ऑफिसर, 1 स्टेनोग्राफर, 1 ऑफिस असिस्टेंट, 2 यूडीसी, 4 लैब असिस्टेंट, 1 लाइब्रेरी असिस्टेंट, 4 एलडीसी, 2-2 एग्रीकल्चर सुपरवाइजर, ड्राइवर, बुक लिफ्टर, सेल्फ असिस्टेंट।