भ्रष्टाचार का मामला : द. अफ्रीका में गुप्ता बंधुओं पर कसा शिकंजा

0
23

जोहानिसबर्ग। दक्षिण अफ्रीका में भ्रष्टाचार के आरोपों से घिरे बड़े भारतीय कारोबारी परिवार के खिलाफ शिकंजा कसता जा रहा है। दक्षिण अफ्रीकी सरकार ने गुप्ता परिवार से स्थायी निवास का अधिकार छीनने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। इस मामले से जुड़े एक अधिकारी ने यह जानकारी दी है। भ्रष्टाचार के मामलों में पुलिस को भगोड़े अजय गुप्ता की तलाश है।

निवास का अधिकार छीने जाने के बाद वे बैंकिंग सुविधा और दक्षिण अफ्रीकी पहचान पत्र का इस्तेमाल भी नहीं कर पाएंगे। भारत में पैदा हुए गुप्ता बंधुओं में अजय गुप्ता सबसे बड़े हैं। गुप्ता इस देश के सबसे अमीर लोगों में से एक हैं। अब पुलिस इन पर लगे भ्रष्टाचार के आरोपों की जांच कर रही है। भ्रष्टाचार पर नजर रखने वाली एजेंसी ने पूर्व राष्ट्रपति जैकब जुमा से अनुचित लिंक के आरोप लगाए हैं।

गृह मंत्री मालुसी गीगाबा ने अजय के आवासीय अधिकार वापस लिए जाने की संभावना पर राष्ट्रपति सिरिल रामाफोसा से चर्चा की है। गीगाबा के प्रवक्ता ने यह जानकारी दी है। उन्होंने बताया कि गृह मंत्रालय के महानिदेशक को इसके लीगल पहलुओं पर विचार करने को कहा है।

साउथ अफ्रीका में जांच के अलावा भारत में भी टैक्स डिपार्टमेंट के अधिकारियों ने गुप्ता बंधुओं के ठिकानों पर छापेमारी की है। कई बार समन जारी किए जाने के बाद पेश नहीं होने पर पुलिस ने अजय गुप्ता को भगोड़ा घोषित कर दिया था। उनके साथ 13 अन्य लोगों के खिलाफ भी केस दर्ज है।

यह भी आरोप है कि जैकब जुमा के राष्ट्रपति रहते उन्हें गलत तरीके से सरकारी ठेके आवंटित किए गए। अतुल के नेतृत्व में यह परिवार 1993 में साउथ अफ्रीका आया था और बहुत जल्द इसने अपने कारोबार को कई क्षेत्रों में फैला लिया। गुप्ता बंधु मूलरूप से उत्तर प्रदेश के सहारनपुर के रहने वाले हैं।