कोटा संभाग में 110 केंद्रों पर होगी गेहूं, चने और सरसों की सरकारी खरीद

0
72

 कोटा।  संभाग में न्यूनतम समर्थन मूल्य पर गेहूं, चना व सरसों की खरीद शुरू करने से पहले कोटा-बूंदी सांसद ओम बिरला व सांगोद विधायक हीरालाल नागर ने गुरुवार को सर्किट हाउस में एफसीआई एवं राजफेड के अधिकारियों की बैठक ली। इस दौरान खरीद से जुड़ी तैयारियों की समीक्षा भी की गई।

क्रय करने वाली एजेंसियों के अब तक कार्यक्रम के अनुसार, 14 मार्च से सरसों, 15 मार्च से गेहूं और 21 मार्च से चने की समर्थन मूल्य पर खरीद शुरू कर दी जाएगी।  सांसद बिरला ने अधिकारियों को कहा कि सरकार द्वारा समर्थन मूल्य में वृद्धि की गई है और इस बार पैदावार भी अच्छी हुई है, तय है कि बड़ी मात्रा में गेहूं समर्थन मूल्य पर बिकने के लिए आएगा। ऐसे में विभागीय तैयारियां पूरी होनी चाहिए।

बैठक में बिरला को एफसीआई के क्षेत्रीय प्रबंधक पवन बोथरा ने बताया कि एफसीआई द्वारा गेहूं के लिए कोटा संभाग में 74 कांटे लगाए जाएंगे। वहीं कुछ कांटे राजफेड के माध्यम से भी लगेंगे। राजफेड के मैनेजर तेजसिंह निर्वाण ने बताया कि सरसों खरीद के लिए 20 और चने के लिए 16 कांटे लगेंगे।

समर्थन मूल्य पर बेचने के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कराने पर किसानों को टोकन नंबर दिया जाएगा। सांसद बिरला ने कहा कि खरीद केंद्रों पर बारदाने की उपलब्धता के साथ-साथ माल का उठाव भी समय पर हो, ताकि किसानों को परेशानी का सामना नहीं करना पड़े।

विधायक नागर ने कहा कि ऑनलाइन पंजीयन होने के बाद किसान को तुलाई में विलंब नहीं करना पड़े तथा तुलाई में पारदर्शिता रहे। केंद्रों पर आने वाले किसानों के लिए उचित सुविधाएं देने के भी निर्देश दिए गए। इस दौरान एफसीआई के क्षेत्रीय प्रबंधक पवन बोथरा, राजफेड से तेजसिंह निर्वाण, कोटा ग्रेन एंड सीड्स मर्चेंट एसोसिएशन के अध्यक्ष अविनाश राठी मौजूद थे।