गेहूं की सरकारी खरीद 15 मार्च से, सरसों 14 व चने की 21 से प्रस्तावित

0
521

-मुकेश भाटिया,कोटा। रबी विपणन में सरकार द्वारा निर्धारित समर्थन मूल्य पर गेहूं, चना, एवं सरसों की खरीद के लिए जिले में 34 खरीद केन्द्र प्रस्तावित किये हैं । जिला कलक्टर रोहित गुप्ता ने बताया कि गेंहू की समर्थन मूल्य पर खरीद के लिए जिले में 25 खरीद केन्द्र और सरसों की खरीद के लिए 5 खरीद केन्द्र स्थापित किये गये है। जबकि चने की उपज की खरीद के लिए 4 खरीद केन्द्र स्थापित किये गये है।

उन्होंने खाद्य नागरिक आपूर्ति विभाग तथा सहकारिता विभाग के अधिकारियों को संबंधित एजेंसियों से आपसी समन्वय कर खरीद केन्द्र में सरकार द्वारा निर्धारित मापदंड अनुसार समर्थन मूल्य पर गेंहू, चना एवं सरसों की खरीद करने के निर्देश दिये है। जिला कलक्टर ने बताया कि गेंहू की समर्थन मूल्य पर खरीद हेतु 24 केन्द्र प्रस्तावित किये गये है। जिनमें राजफैड एवं भारतीय खाद्य निगम द्वारा 1735 रू. प्रति क्विं. के समर्थन मूल्य पर खरीद की जाएगी।

उन्होंने बताया कि जिले में इटावा, कैथून, झालीपुरा, भीमपुरा, अयाना, रजोपा, खातौली, रापुरियाधाभाई, तलाब गंडावत, लुहावत, सारोला, कंवरपुरा, दीगोद, मुंडला, खेडली महाद्वीप, सीमलिया, खजूरी, कोटा, किशनगंज, मंडावरा, सुल्तानपुर, सांगोद व कुन्दनपुर में खरीद केन्द्र स्थापित किये गये है। उन्होंने खरीद केन्द्र की व्यवस्थाओं को सुदृढकर किसानों को बिना परेशानी के उपज की खरीद के लिए आवश्यक सुविधाएं भी तैयार करने के निर्देश दिये है।

सरसों खरीद के 5 केन्द्र
सरकार द्वारा निर्धारित समर्थन मूल्य पर सरसों की खरीद हेतु पाचं स्थानांे पर खरीद केन्द्र स्थापित किये गये है। जिनमें समर्थन मूल्य के निर्धारित मापदण्ड अनुसार खरीद की जाएगी। उन्होंने बताया कि जिले में कोटा, सांगोद, रामगंजमंडी, सुल्तानपुर एवं ईटावा में खरीद केन्द्र स्थापित किये गये है।

चना खरीद के 4 केन्द्र
जिला कलक्टर ने बताया कि चना उत्पादक किसानों से समर्थन मूल्य पर चने की खरीद हेतु जिले में चार स्थानों पर खरीद केन्द्र स्थापित किये गये है। जिनमें कोटा, सांगोद, रामगंजमंडी एवं इटावा में बनाये गये केन्द्रों पर खरीद की जाएगी।

खरीद की तिथि
जिला कलक्टर ने बताया कि जिले में गेंहू की खरीद 15 मार्च से निर्धारित केंद्रों पर शुरू कर दी जाएगी। उन्होंने बताया कि सरसों की खरीद 14 मार्च एवं चना की खरीद 21 मार्च से किये जाने के प्रस्ताव राज्य सरकार द्वारा केंद्र सरकार को भिजवा दिए गए है जिसकी प्रक्रिया पूरी होते ही सरसों व चना की खरीद भी खरीद केंद्रों पर निर्धारित तिथियों को शुरु कर दी जाएगी।