पकड़ा गया नकलची, अंडरगार्मेंट में डिवाइस-कान में था ब्लूटूथ

0
549

बहरोड़ (अलवर)। राजस्थान अध्यापक पात्रता परीक्षा (रीट) में रविवार को एक छात्र को नकल करते हुए पकड़ लिया गया। कड़ी सुरक्षा में हो रही परीक्षा में छात्र ब्लू टूथ से नकल कर रहा था। पुलिस ने आरोपी को अरेस्ट कर लिया है। राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की ओर से ली जा रही परीक्षा राज्य के 2253 परीक्षा केंद्रों पर आयोजित की जा रही है।

विशेष सतर्कता के तहत भरतपुर संभाग के चार जिलों में इस दौरान इंटरनेट सेवाएं पूरी तरह से बंद रही। डीएसपी गणेश सिंह तंवर ने बताया कि अलवर रोड स्थित पीजी महाविद्यालय में रघुनाथ विश्नोई को नकल करते पकड़ा गया। रघुनाथ सांचौर का रहने वाला है।

ऐसे पकड़ा गया
परीक्षा चल रही थी। रघुनाथ बार-बार गर्दन हिला रहा था। इस पर इनविजिलेटर को शह हुआ। वह चुपचाप उसके पीछे आकर खड़े हो गए। इस पर कान से आवाज आई तो शक पुख्ता हो गया।

फिर उससे पूछताछ की गई तथा कोई संतोषप्रद जवाब नहीं मिलने पर सुरक्षाकर्मियों को बुलाया गया। तलाशी लेने पर उसके अंडरगार्मेंट में डिवाइस मिला और कान में उसने ब्लूटूुथ लगा रखा था।

डाक्टरों ने निकाला ब्लूटूथ
एसडीएम के निर्देश पर डाक्टरों ने रघुनाथ के कान से डिवाइस निकाला। डिवाइस कान में पर्दे के पास लगा था। पुलिस पता लगा रही है कि यह किससे और क्या बात कर रहा था।

बहरोड़ में इंटरनेट बंद नहीं रखा गया
परीक्षा समय में भरतपुर, धौलपुर, करौली व सवाईमाधोपुर में 2जी/3जी/4जी/डाटा, इंटरनेट सर्विस, बल्क एसएमएस, वाट्सएप, फेसबुक, ट्विटर एवं अन्य सोशल मीडिया की इंटरनेट सेवाएं बंद रहीं।

जयपुर में इंटरनेट सेवा यथावत रही। वहीं बहरोड़ में भी इंटरनेट बंद नहीं किया गया। अगर यहां इंटरनेट बंद होता तो यह नकल नहीं कर पाता। उल्लेखनीय है कि परीक्षा केन्द्र स्थित फोटोकॉपियर, फैक्स मशीन आदि सुविधा सीज कर दी गईं।

रीट में 9.79 लाख अभ्यर्थी
रीट में कुल 9,79,768 परीक्षार्थी प्रविष्ट हुए। द्वितीय स्तर की परीक्षा में करीब आठ लाख अभ्यर्थी जबकि बाकी अभ्यर्थी प्रथम और दोनों स्तर की परीक्षा में थे। स्तर द्वितीय (कक्षा 6 से 8) की परीक्षा प्रथम पारी में सुबह 10 बजे से दोपहर 12.30 बजे तक और स्तर प्रथम (कक्षा 1 से 5) की परीक्षा द्वितीय पारी दोपहर 2.30 बजे से सांय 5.00 बजे तक चली।

कड़ी सुरक्षा
नकल व अनुचित साधनों की रोकथाम के लिए सीसी टीवी कैमरों का सर्विलांस, परीक्षार्थियों की वीडियोग्राफी, जैमर, उड़नदस्ते सहित अन्य कड़े इंतजाम किए गए। परीक्षा केंद्रों पर परीक्षा के दौरान परीक्षार्थी की सभी गतिविधियां सीसीटीवी कैमरों के सर्विलांस में रहीं।

परीक्षा केंद्रों पर जैमर लगाए गए। बोर्ड द्वारा परीक्षा के दौरान सुगम यातायात के लिए उत्तर पश्चिम रेलवे द्वारा अतिरिक्त रेलगाड़ियों और राजस्थान राज्य पथ परिवहन द्वारा अतिरिक्त बसों की व्यवस्था की गई थी।