बैंकिंग शेयरों में बिकवाली से सेंसेक्स 407 अंक टूटा, निफ्टी सुधरा

0
24

नई दिल्ली। अमेरिकी शेयर बाजारों में भारी गिरावट का असर एक बार फिर भारतीय शेयर बाजार पर दिखा। बैंकिंग, ऑटो, आईटी और फार्मा शेयरों में बिकवाली से कारोबार के अंत में बाजार बड़ी गिरावट के साथ बंद हुए। सेंसेक्स 407 अंक गिरकर 34,006 और निफ्टी 122 अंक टूटकर 10,454 अंक पर बंद हुआ। सेक्टोरल इंडेक्स में सिर्फ मेटल और रियल्टी में तेजी रही।

इससे पहले सेंसेक्स 410 अंक गिरकर 34002 अंक पर खुला। वहीं निफ्टी 160 अंक टूटकर 10416 अंक पर खुला। कमजोर शुरुआत के बाद बीएसई के बेंचमार्क इंडेक्स सेंसेक्स के सभी 30 शेयरों में गिरावट से सेंसेक्स 550 अंकों से ज्यादा फिसल गया है। बाजार में गिरावट बढ़ने से एक मिनट के कारोबार में निवेशकों को 2 लाख करोड़ रुपए से ज्यादा का नुकसान हुआ। दोपहर को मेटल और रियल्टी शेयरों में खरीददारी लौटने से बाजार में निचले स्तर से रिकवरी देखने को मिली।

शुरुआती कारोबार में लार्ज कैप शेयरों के साथ मिडकैप और स्मॉलकैप शेयरों में भी बिकवाली से निवेशकों के 2 लाख करोड़ रुपए डूब गए। गुरूवार को बीएसई पर लिस्टेड कुल कंपनियों का मार्केट कैप 1,47,99,096.88 करोड़ रुपए था। वहीं, सेंसेक्स में शुरुआती 550 अंकों से ज्यादा की गिरावट से निवेशकों के 2,11,229.88 करोड़ रुपए डूब गए।

स्मॉलकैप इंडेक्स चढ़े, मिडकैप में हल्की गिरावट
– शुक्रवार के कारोबार में लार्जकैप शेयरों के मुकाबले स्मॉलकैप शेयरों अच्छी तेजी दिखी। बीएसई का स्मॉलकैप इंडेक्स 0.23 फीसदी की बढ़त के साथ 18173 अंक पर बंद हुआ। स्मॉलकैप शेयरों में होटल लीला, बीएफ इन्वेस्टमेंट, फोर्टिस, उत्तम शुगर, मेडिकामेन बायोटेक, सोरिल इंफ्रा, एमआईआरसी इलेक्ट्रॉनिक्स, पेन इंडस्ट्रीज, आईजीपीएल और एचएफसीएल 8.10-19.90 फीसदी तक उछले।
– वहीं बीएसई का मिडकैप इंडेक्स 0.09 फीसदी की हल्की गिरावट के साथ बंद हुआ। मिडकैप शेयरों में सेल, वर्लपूल, आरपावर, वक्रांगी, टोरेंट फार्मा, पेज इंडस्ट्रीज, टोरेंट पावर, एमफैसिस, ग्रृह फाइनेंस और टाटा कॉम 3.01-9.12 फीसदी तक चढ़कर बंद हुए।

मेटल-रियल्टी को छोड़ सभी सेक्टोरल इंडेक्स लुढ़के
– कमजोरी के साथ मेटल और रियल्टी को छोड़ सभी सेक्टोरल इंडेक्स गिरावट के साथ बंद हुए। बैंक निफ्टी इंडेक्स 457 अंक यानी 1.76 फीसदी टूटकर 25,463.65 अंक पर बंद हुए। इसके अलावा निफ्टी ऑटो में 0.96%, निफ्टी एफएमसीजी में 0.46%, निफ्टी आईटी में 0.76%, निफ्टी मीडिया में 0.95%, निफ्टी फार्मा में 0.43 फीसदी की गिरावट रही। हालांकि निफ्टी मेटल इंडेक्स में 1.27 फीसदी और निफ्टी रियल्टी इंडेक्स में 0.35 फीसदी की बढ़त दर्ज की गई।

बाजार में गिरावट की वजह
1) डाओ जोंस 1000 प्वाइंट्स टूटा
– गुरूवार के कारोबार में डाओ जोंस 1,033 अंक यानी 4.15 फीसदी की गिरावट के साथ 23,860 अंक पर बंद हुआ। वहीं नैस्डैक 275 अंक यानी 3.90 फीसदी गिरकर 6,777 अंक पर बंद हुआ। इसके अलावा एसएंडपी 500 इंडेक्स 101 अंक यानी 3.75 फीसदी की कमजोरी के साथ 2,581 के स्तर पर बंद हुआ।
– इससे पहले 5 फरवरी 2018 को डाओ जोंस 1600 अंक टूट गया था।

2) एशियाई बाजार गिरे, निक्केई 700 अंक टूटा
– अमेरिकी बाजारों में गिरावट का असर एशियाई बाजारों पर देखने को मिल रहा है। सिंगापुर का एसजीएक्स निफ्टी इंडेक्स 241 अंक टूटकर 10,320 अंक पर कारोबार कर रहा है। जापान का बाजार 705 अंक टूटकर 21,186 अंक पर कारोबार कर रहा है। वहीं हैंग सेंग 1150 अंक गिरकर 29,301 अंक पर कारोबार कर रहा है।
– कोरियाई बाजार का इंडेक्स कोस्पी 1.93 फीसदी गिरा है, जबकि ताइवान इंडेक्स में 217 अंक की गिरावट दर्ज की गई है। शंघाई कम्पोजिट 145 अंक गिरकर 3117 अंक पर कारोबार कर रहा है। वहीं स्ट्रेट्स टाइम्स इंडेक्स 1.92 फीसदी लुढककर 3350 अंक पर कारोबार कर रहा है।

FII रहे बिकवाल, डीआईआई ने की खरीददारी
गुरूवार के कारोबार में फॉरेन इंस्टीट्यूशनल इन्वेस्टर्स (एफआईआई) ने 2297.09 करोड़ रुपए की बिकवाली की। वहीं डोमेस्टिक इंस्टीट्यूशनल इन्वेस्टर्स (डीआईआई) ने घरेलू शेयर बाजार में 2373.59 करोड़ रुपए की खरीददारी की। जिससे बाजार में 7 दिन की गिरावट पर ब्रेक लगा था।