बिना ड्राइवर उड़ने वाली दुनिया की पहली पैसेंजर टैक्सी

0
23

दुनिया की पहली आॅटोनॉमस पैसेंजर टैक्सी को चीन में पहली बार पब्लिकली टेस्ट किया गया। Ehang 184 नामक इस फ्लाइंग ड्राइवरलेस पैसेंजर ड्रोन की क्या हैं खासियतें, आइए जानते हैं…Ehang 184 इलेक्ट्रिक ड्रोन है और यह एक आॅटोनॉमस यानी बिना ड्राइवर की मदद से उड़ता है।

इसको फ्लाइंग टैक्सी या कार भी कह जा रहा है। इसके छोटे से कैबिन में एक या दो पैसेंजर्स बैठ सकेंगे। फ्लाइट पाथ चुनने के बाद एक बटन पुश करना होगा। इसके बाद बाकी का काम आॅटोमेटेड फ्लाइट सिस्टम खुद ही करेगा।
Ehang 184 को पहली बार 2016 के सीईएस यानी कंज्यूमर्स इलेक्ट्रॉनिक्स शो में पेश किया गया था।

इसमें मल्टी रोटर सिस्टम है जो कि इस ड्रोन को सिस्टम फेल होने की स्थिति में जमीन पर उतरने में मदद करता है।
टेस्टिंग के दौरान इस पैसेंजर ड्रोन में एक पैसेंजर था जिसका वजन 100 किलोग्राम के आसपास था। समुद्री लेवल पर 100 किलोमीटर प्रति घंटा की स्पीड से तकरीबन 23 मिनट की उड़ान भरी।

इसको कोहरे आदि में भी टेस्ट किया गया। इतना ही नहीं, इससे 8.8 किलोमीटर तक 130 किलोमीटर प्रति घंटा की स्पीड से लॉन्ग रेंज फ्लाइट्स भी टेस्ट की गईं।इसकी पब्लिक टेस्टिंग में 150 टेक्निकल इंजिनियर्स लगे। इससे पहले रिसर्च और डिवेलपमेंट में एक हजार से ज्यादा दिन और लगभग 1,000 फ्लाइट टेस्ट किए गए।

अगर सब कुछ ठीक रहता है तो भविष्य में इस उड़ने वाली ड्राइवलेस टैक्सी में लोग ट्रेवल करते हुए दिख सकते हैं। हालांकि, इसकी कीमत दो से तीन लाख डॉलर के बीच रहने की उम्मीद है, जो कि काफी महंगा है।